ओमप्रकाश राजभर के खिलाफ मैदान में उतरी नई 'भारतीय संघर्ष समाज पार्टी'
File Photo


मऊ जिले में भारतीय संघर्ष समाज पार्टी द्वारा अपने मांग पत्र को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन किया गया. साथ ही अपना मांग पत्र डीएम के माध्यम से प्रधानमंत्री मोदी को सौंपा गया. इस दौरान पार्टी के लोगों ने ओमप्रकाश राजभर के खिलाफ मोर्चा खोला.

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मदन राजभर ने इस कहा कि ओमप्रकाश राजभर ने अपने समाज के लोगों के साथ छल और कपट किया है. जिसके विरोध में हमने समाज के लोगों के साथ मिलकर इस नई पार्टी का गठन किया है. ये पार्टी गरीबों और मजलूमों के साथ ही समाज के हितों की लड़ाई लड़ेगी. इससे पहले हम लोग सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी में सक्रिय थे, लेकिन पार्टी के मुखिया ओमप्रकाश राजभर अपने सिद्धांतों से हटकर काम करने लगे.

 'परिवारवाद की राह पर चल पड़े हैं ओम प्रकाश राजभर'

उन्होंने कहा कि ओमप्रकाश पहले कहा करते थे कि हम आजीवन चुनाव नहीं लड़ेंगे. लेकिन वह अपने खुद चुनाव तो लड़े ही और अपने लड़कों को भी चुनाव लड़वाया. इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी से समझौता कर 8 सीट लिया. 8 सीटों में से 4 सीट एससी के कार्यकर्ताओं को दे दिए.

मदन राजभर ने कहा कि इसके अलावा एक सीट को बेच दिया और बाकी बचे 3 सीट अपने परिवार के लोगों में बांट लिया. जो पार्टी राजभर समाज हितों की बात करने वाली थी, वह आज के समय में परिवारवाद और वंशवाद की राह पर चल पड़ी है. इसलिए हम राजभर समाज के लोग इस पार्टी को बनाकर अपने समाज के आंदोलन को तेज कर रहे हैं.

अधिक राज्य की खबरें