अखिलेश की साईकिल पर बैठकर शत्रुधन और यशवंत सिन्हा ने साधा बीजेपी पर निशाना कहा - जवाब तो देना होगा 'बाबू'
मंच पर सपा मुखिया अखिलेश यादव के साथ बीजेपी के सांसद शत्रुधन सिन्हा


लखनऊ, समाजवादी पार्टी पार्टी कार्यालय में आयोजित जयप्रकाश नारायण की जयंती कार्यक्रम में कभी बीजेपी के दिग्गज नेता रहे पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा और बीजेपी के मौजदा सांसद शत्रुधन सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर जमकर सियासी बाण चलाएं.  सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में हुए इस कार्यक्रम में बोलते अटल सरकार में वित्त मंत्री रहे यशवंत सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी पर जमकर हमला बोला. सिन्हा ने कहा की मैंने पहला ऐसा प्रधानमंत्री देखा है जिसके निर्णयों के जानकारी खुद कैबिनेट के सदस्यों को नहीं होती है. 



जम्मू कश्मीर में टूटे बीजेपी और PDP के गठगंधन का जिक्र करते हुए सिन्हा ने कहा की देश के गृह मंत्री और आपके लखनऊ के सांसद तक को ये नहीं पता था कि जम्मू कश्मीर में बीजेपी और PDP का गठबंधन टूटने जा रहा है और वहां राष्ट्रपति शासन लगेगा. सिन्हा ने कहा की खुद राजनाथ सिंह ने इस बात को स्वीकार किया था की जब कश्मीर में बीजेपी और PDP का गठबंधन टूटा उस समय वो आफिस में थे और उन्हें ख़बरों के माध्यम से पता चला था कि गठबंधन टूट गया है.



इसी तरह जब मोदी जी ने फ़्रांस के साथ राफेल सौदा किया तो उसकी भी जानकारी तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को नहीं थी . उन्होंने खुद मीडिया के सामने कहा था कि अगर प्रधानमंत्री इस डील के साथ जाना चाहते है तो मैं भी इस डील के साथ हूँ. इसी तरह नोटबंदी का फैसला भी सिर्फ प्रधानमंत्री का अपना फैसला था जिसके जानकारी न तो वित्त मंत्री को थी और न ही RBI को. 

पूर्व विदेश मंत्री ने कहा की मै भी अटल जी के समय में विदेश मंत्री रहा और मुझे ऐसा कुछ याद नहीं आता कि जब उनका विदेश का दौरा रहा हो, तो उन्होंने मुझे याद न किया हो. मै उनके हर विदेश दौरे में उनके साथ रहता था पर आज तो तस्वीर ठीक इसके उल्टी है. आज प्रधानमंत्री के विदेश दौरों में शायद ही देश की विदेश मंत्री पूछी जाती है वरना ज्यादातर समय के लिए तो वो ट्वीटर मंत्री हो गयी है. 



पूर्व वित्/विदेश मंत्री ने कहा कि अखिलेश यादव काफी दमदार नेता हैं जो सभी से लोहा लेता हैं। अखिलेश से कहूंगा कि मिलकर लड़ेंगे तो 1977 की तरह हमारी जीत होगी. उन्होंने कहा कि आज मैं और शत्रुघ्न सिन्हा जो बोल रहे हैं, वो केवल उनके सामने बैठे लोग सुन रहे हैं. उन्होंने कहा कि मीडिया को हमारा बहिष्कार करने के लिए ऊपर से कहा गया है. 

पत्रकार राघव बहल के घर और दफ्तर पर इनकम टैक्स के छापे का मदद उठाते हुए उन्होंने कहा कि इस सरकार में सिर्फ एक ही रीत है जो न झुके उसका दमन कर दो. पत्रकार राघव बहल सरकार के खिलाफ लिख रहे थे लिहाजा उनके घर भी इनकम टैक्स के छापे डलवा दिए गए ताकि वो सरकार सामने घुटने टेंक दें.  मैं और शत्रुघ्न सिन्हा देश में घूम-घूम कर प्रजातांत्रिक मान्यताओं के लिए काम कर रहे हैं। आज एक बार फिर सबको एकजुट होना पड़ेगा और चुनौती का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि आज एक बार फिर से दुर्योधन और दुशासन से लड़ने का वक्त आ गया है। 



वही राफेल डील पर मोदी को घेरते हुए बीजेपी के शत्रुधन ने कहा कि सरकार ऐसे नहीं चलती बाबू. जवाब तो देना होगा. उन्होंने सरकार को इस बात का जवाब देना होगा कि जो करार लड़ाकू विमान के क्षेत्र में जानी-मानी भारतीय कंपनी HAL से हो रहा था वो करार एकाएक ऐसे कंपनी को क्यों दे दिया गया जिसके पास विमान बनाने का तो छोड़िये एक मोटर साइकिल बनाने का भी अनुभव नहीं है, और जो करार होने के मात्र दस दिन पहले खड़ी की गयी. 

बीजेपी सांसद ने कहा कि लोग अक्सर मुझसे ये पूछते है कि आप अपनी ही सरकार के खिलाफ क्यों बोलते, तो मैंने कहा कि मैं जय प्रकाश नारायण का अनुयायी हूँ जो सत्य है उसी का साथ रहूँगा और सत्य यही है कि बीजेपी में तानाशाही है. पर अब झूठे जुमले और खोखली बयानबाजी नहीं चलेगी जवाब तो देना होगा. 

शत्रुधन ने कहा कि मुझे बहुत ख़ुशी होती है जब मैं देश भविष्य अखिलेश और तेजस्वी जैसे युवाओं के हाथ में देखा हूँ. उन्होंने कहा आज जय प्रकाश नारयण की जयंती पर ये संकल्प ले लो कि तुम युवा जुमलेबाजी किए इस सरकार का यूपी से सफाया कर दोगे. अगर इनका सफाया यूपी और बिहार से हो गया तो केंद्र किए गद्दी से भी ये हाथ धो बैठेंगे क्योकि केंद्र कोई सरकार का रास्ता यूपी और बिहार से होकर ही जाता है.   


अधिक राज्य की खबरें