इलाहाबाद के बाद लखनऊ और फैजाबाद का नाम बदलने की उठने लगी मांग
File Photo


इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किए जाने के बाद यूपी के कई शहरों के नाम बदले की भी मांग उठने लगी है. राजधानी लखनऊ और फ़ैजाबाद का नाम भी बदलने की मांग उठने लगी है. बिहार के राज्यपाल और बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालजी टंडन ने अब लखनऊ का नाम बदलने की गुजारिश की है. लालजी टंडन का कहना है कि लखनऊ का नाम बदलकर लक्ष्मणपुर कर दिया जाना चाहिए, क्योंकि लखनऊ को लक्ष्मण ने बसाया था और पुरातन काल में इसे लक्ष्मणपुर के नाम से जाना जाता था.

लालजी टंडन ने मई 2018 में रिलीज हुई अपनी पुस्तक 'अनकहा लखनऊ' में भी इसका जिक्र किया था. किताब में उन्होंने लक्ष्मीनावती से लखनऊ होने तक के सफर को भी बताया है. लालजी टंडन का कहना है कि इससे पहले लखनऊ को लक्ष्मणपुर और लक्ष्मणावती के नाम से जाना जाता था, लेकिन बाद में इसे लखनपुर भी कहा जाने लगा. बदलाव के साथ इसे अंग्रेजी में लखनऊ कहा गया.

उधर विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने कहा कि सरकार को अब फैजाबाद का नाम अयोध्या करके लोगों की भावनाओं का सम्मान करना चाहिए. विहिप की मांग है कि साकेतनगरी का नाम फैजाबाद होने से देश की सांस्कृतिक आस्था को ठेस लग रही है. इसलिए योगी सरकार को फैजाबाद का नाम अयोध्या कर साकेतनगरी का सांस्कृतिक गौरव वापस लौटाना चाहिए.

इससे पहले मुख्यमंत्री ने इलाहाबाद का नाम बदलने पर विपक्ष के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा, "लोग कहते हैं कि क्यों नाम बदल दिया. नाम से क्या होता है. मैंने कहा तुम्हारे मां-बाप ने तुम्हारा नाम रावण और दुर्योधन क्यों नहीं रखा?" मुख्यमंत्री उत्तराखंड में आयोजित ज्ञान कुंभ कार्यक्रम में बोल रहे थे.

गौरतलब है कि इलाहाबाद का नाम बदलने पर विपक्ष ने इसे बीजेपी का एजेंडा करार दिया था. विपक्ष का आरोप है कि एक एजेंडे के तहत सरकार शहरों का नाम बदल रही है.

अधिक राज्य की खबरें