बुलंदशहर हिंसा: हिंदुओं के खिलाफ काम कर रहा था इंस्पेक्टर, BJP युवा मोर्चा नेता का आरोप
file photo


बुलंदशहर हिंसा में हर रोज नए खुलासे सामने आ रहे हैं. बुधवार को मुख्य आरोपी योगेश राज ने घटना का एक वीडियो रीलीज़ किया था. अब इस केस के एक और आरोपी बीजेपी युवा मोर्चा के नेता शिखर अग्रवाल ने भी एक वीडियो जारी किया है. इस वीडियो में अग्रवाल ने हिंसा भड़काने के आरोपों पर सफाई दी है. किस जगह से ये वीडियो जारी किया गया है इसकी कोई जानकारी नहीं है. दोनों आरोपी फिलहाल फरार है.

शिखर अग्रवाल ने वीडियो में दावा किया है कि बुलंदशहर हिंसा में मारे गए पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह भ्रष्ट थे और उन्हें घटनास्थल पर उन्होंने उसे गोली मारने की धमकी दी थी. खुद को निर्दोष बताते हुए अग्रवाल ने कहा, ''घटना के वक्त मैं पुलिस स्टेशन के अदंर था. हिंसा फैलाने में मेरी कोई भूमिका नहीं थी.''

अग्रवाल ने ये भी कहा कि इंस्पेक्टर सुबोध ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी. उन्होंने कहा, ''इस इलाके में हर किसी को पता है कि SHO कितना भ्रष्ट था. वो मुसलमानों का साथ देकर हिंदू की भावनाओं को ठेस पहुंचाना चाहते थे. उसने मुझे धमकी देते हुए कहा कि मृत गाय को अगर मैं लोगों के सामने ले गया तो वो मुझे गोली मार देगा.''

दोनों आरोपी योगेश राज और शिखर अग्रवाल ने वीडियो में एक ही बातें कही है. दोनों ने दावा किया है कि वो घटना के समय पुलिस स्टेशन में थे. जबकि पुलिस का कहना है कि दोनों को हिंसा की जगह देखा गया था.

आपको बता दें कि बुलंदशहर हिंसा में अब तक 26 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है, जिसमें से 8 आरोपी बजरंग दल, वीएचपी और बीजेपी के यूथ विंग के सदस्य हैं. पुलिस की शुरुआती जांच और वहां मौजूद लोगों की बातों से ऐसा लगता है कि इंस्पेक्टर की हत्या सुनियोजित तरीके से की गई. हत्या का मकसद इलाके में सांप्रदायिक तनाव फैलाना था.

अधिक राज्य की खबरें

कांग्रेस का बढ़ा 'आत्मविश्वास' यूपी बीजेपी के लिए बड़ी चुनौती, सरकार-संगठन में हो सकता है बदलाव..

मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान विधानसभा चुनाव की हार से यूपी बीजेपी दबाव में प्रदेश में सपा-बसपा ......