कुंभ मेला 2019 : निर्माणाधीन हेलीपोर्ट की शटरिंग गिरी, बडा हादसा टला
कुंभ मेला 2019 : निर्माणाधीन हेलीपोर्ट की शटरिंग गिरी, बडा हादसा टला


प्रयागराज। कुंभ 2019 के आगाज से पहले ही वहां पर निर्माण की गुठवत्ता की पोल खुलने लगी है। कीडगंज क्षेत्र में यमुना नदी के किनारे बुधवार देर रात निर्माणाधीन हेलीपोर्ट की शटरिंग अचानक गिर गई। इस शटरिंग के मलबे के नीचे मजदूर दब गए। इस दुर्घटना के बाद सक्रिय एनडीआरएफ व पुलिस की राहत टीम ने घायल दोनों मजदूरों को इलाज के लिए भेजा। 

इस प्रकरण में मेलाधिकारी ने हादसे की जांच के लिए कमेटी का गठन किया है। कीडगंज थाना क्षेत्र में मौजगिरि मंदिर है। उसी के बगल में यमुना किनारे कुंभ के मद्देनजर हेलीपोर्ट बनाया जा रहा है। करीब चार करोड़ की लागत से लोक निर्माण विभाग यह निर्माण करा रहा है। यह काम धीमा होने के कारण अब तेजी दिखाई जा रही है। 

मुख्यमंत्री के शहर में आगमन से पहले काम को गति दी जा रही है। इसके कारण ही बीम व लेंटर डालने का काम साथ किया जा रहा था। इस प्रक्रिया में दोनों के लिए शटरिंग डालकर जब मसाला डाला गया तो अचानक पूरी शटरिंग भरभरा कर गिर गई। नीचे काम कर रहे कुछ मजदूर इसकी चपेट में आ गए। सर्वेश कुमार समेत दो मजदूर घायल हो गए। इस हादसे की खबर मिलते ही मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर बैठक कर रहे पुलिस, प्रशासनिक समेत अन्य विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। पुलिस का कहना है कि पीडब्ल्यूडी के अधिकारी घायलों को अस्पताल लेकर चले गए थे, जिस कारण दूसरे का नाम नहीं पता चल सका है।

जल्दबाजी में हुआ हादसा...
पीडब्ल्यूडी के प्रांतीय खंड के अधिशाषी अभियंता आरबी राम का कहना है कि मुख्यमंत्री के दौरे को देखते हुए ठेकेदार जल्दी काम कराना चाहता था, जिस कारण हादसा हुआ। उन्होंने बताया कि हेलीपोर्ट की बीम डालने के बाद मशीन से स्लैब डालने का काम चल रहा था। मसाला अधिक होने के कारण स्लैब गिर गया। दो-तीन मजदूरों को चोट लगी थी, जिनका इलाज कराकर घर भेज दिया गया है। ठेकेदार को अब खुद के खर्च पर स्लैब डलवाना होगा।

शटरिंग टूटने से हुए हादसे को लेकर कुंभ मेलाधिकारी विजय किरन आनंद ने जांच बैठा दी है। उन्होंने बताया कि हेलीपोर्ट बनाने की जिम्मेदारी पीडब्ल्यूडी को सौंपी गई थी। मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं। रिपोर्ट मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

अधिक राज्य की खबरें