जाति के नाम पर सपा- बसपा और कांग्रेस ने समाज को बांटा: CM योगी
file photo


उत्तर प्रदेश के महराजगंज में शुक्रवार को बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'जाति के नाम पर सपा बसपा और कांग्रेस ने समाज को बांटने का काम किया हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी योजनाओं को पहुंचाने के लिए बीजेपी सरकार ने जाति और धर्म नहीं देखा है. सामान रूप से सभी के विकास के लिए काम किया गया. उन्होंने कहा कि विकास योजनाओं का लाभ सभी जाति-धर्म के लोगों को मिला है इसलिए अब जातिगत राजनीति की दीवारें दरकी हैं.

योगी ने कहा कि भारत को अगर शक्तिशाली बनाना है तो सभी भारतवासियों को एक बार फिर से नरेंद्र मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाना होगा. उन्होंने कहा कि बीजेपी में ही ऐसा हो सकता है कि एक सामान्य कार्यकर्ता प्रधानमंत्री तक बन सकता है. क्या ऐसा कांग्रेस में हो सकता है? क्‍या ऐसा सपा या बसपा में हो सकता है?  योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मुसहर जाति के करीब 4 लाख लोगों के लिए आवास और राशन कार्ड के साथ पेंशन की व्यवस्था की गई.

सीएम योगी ने बूथ अध्यक्षों को संबोधित करते हुए कहा कि महराजगंज के 18 गांव ऐसे थे जहां आजादी के बाद से अब तक राजस्व गांव की मान्यता नहीं मिली थी, उन्‍हें राजस्‍व ग्राम का दर्जा दिया गया. इन गांवों के लोगों के पास तो मतदान देने तक का भी अधिकार नहीं था, लेकिन हमारी सरकार ने उन्हें उनका हक दिलाया और योजनाओं का लाभ गांव के सभी लोगों तक पहुंचाया. सभी पार्टियों ने यहां सिर्फ जातिगत राजनीति करके देश को बर्बाद करने का काम किया.

बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के अल्पसंख्यक दर्जे का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि एएमयू अल्पसंख्यक संस्थान नहीं है इसलिए एएमयू में भी दलितों और पिछड़ों को आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए.

अधिक राज्य की खबरें