सियालदह और गोमती एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनें 13 जून से निरस्त
सीपीआरओ ने बताया कि प्लेटफार्म एक का वाशेबुल एप्रेन चार साल पहले ही बना था, लेकिन निर्माण के बाद से यह जर्जर होने लगा।


लखनऊ । रेलवे प्रशासन लखनऊ के चारबाग स्टेशन के प्लेटफार्म नम्बर एक पर वाशेबुल एप्रेन (पटरी के नीचे का हिस्सा) को बनाने का कार्य 13 जून से  करने जा रहा है। इसलिए 13 से 30 जून तक सियालदह-दिल्ली और गोमती एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनें निरस्त रहेंगी।
मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी (सीपीआरओ) दीपक कुमार ने मंगलवार को बताया कि लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नम्बर एक पर वाशेबुल एप्रेन  को बनाने का कार्य 13 जून से शुरू करेगा। 

इसलिए 13 से 30 जून तक 12419/20 गोमती एक्सप्रेस, 13119/20 सियालदह -दिल्ली एक्सप्रेस,14003/04 माल्दा-आनंद विहार एक्सप्रेस, 14523/24 हरिहर एक्सप्रेस, 14307/08 बरेली-प्रयाग एक्सप्रेस, 51813/14 लखनऊ-झांसी पैसेंजर, 54253/54 लखनऊ- प्रयाग पैसेंजर, 54251/52 लखनऊ-सहारनपुर पैसेंजर, 54255/56 लखनऊ-वाराणसी पैसेंजर, 54281 सुल्तानपुर-लखनऊ पैसेंजर, 54282 लखनऊ-सुल्तानपुर पैसेंजर, 54283 सुल्तानपुर- लखनऊ पैसेंजर, 54284 लखनऊ-सुल्तानपुर पैसेंजर, 54293/94 प्रतापगढ़-लखनऊ पैसेंजर, 54377/78 प्रयाग-बरेली पैसेंजर, 64208 कानपुर-लखनऊ मेमू, 64209 लखनऊ-कानपुर मेमू, 64221/22 लखनऊ-शाहजहांपुर मेमू, 64235/36 बाराबंकी-कानपुर मेमू, 54201 लखनऊ- रहीमाबाद पैसेंजर निरस्त रहेंगी। इसके अलावा 11123/24 ग्वालियर-बरौनी मेल और 15705/06 हमसफर एक्सप्रेस मल्हौर-ऐशबाग-मानकनगर होकर चलेंगी जबकि 64216 कानपुर-लखनऊ मेमू 13 से 30 जून तक 30 मिनट रोककर चलाई जाएगी।  

सीपीआरओ ने बताया कि  प्लेटफार्म एक का वाशेबुल एप्रेन चार साल पहले ही बना था, लेकिन निर्माण के बाद से यह जर्जर होने लगा। पिछले साल रेलवे ने एक रिपोर्ट भी दी थी कि इस एप्रेन के जर्जर होने से ट्रेन बेपटरी हो सकती है। अस्थायी रूप से गिट्टी डालकर किसी तरह ट्रेन संचालन अभी तक किया जा रहा है। अब  रेलवे बोर्ड ने वाशेबुल एप्रेन को फिर से बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इसलिए निर्माण का कार्य शुरू होने जा रहा है।

अधिक राज्य की खबरें