लखनऊ में ठेकेदार को गोली मारने की साजिश में कोलकाता से दो महिलाएं गिरफ्तार
चारबाग रेलवे स्टेशन पर बीते दिनों ठेकेदार वीरेन्द्र को गोली मारने की साजिश में शामिल दो महिलाओं को जीआरपी पुलिस ने कोलकता से गिरफ्तार किया है।


लखनऊ : चारबाग रेलवे स्टेशन पर बीते दिनों ठेकेदार वीरेन्द्र को गोली मारने की साजिश में शामिल दो महिलाओं को जीआरपी पुलिस ने कोलकता से गिरफ्तार किया है। जबकि गोली मारने वाला इंजीनियर छात्र अभी भी फरार है, उसकी तलाश में पुलिस दबिश पर है। 

जीआरपी की क्षेत्राधिकारी अमिता सिंह ने बताया कि चारबाग रेलवे स्टेशन पर बीते दिनों ठेकेदार वीरेन्द्र को गोली मारकर हमलावर फरार हो गया था। घायल युवक को अस्पताल में भर्ती कराते हुए हमलावर की तलाश में पुलिस टीम को लगाया गया। जीआरपी पुलिस ने मंगलवार को कोलकता से दो महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है, देर रात तक उन्हें लखनऊ लाया जाएगा। वहीं, जब यह जानने के लिए प्रयास किया गया कि ठेकेदार को आखिरकार बदमाश ने गोली क्यों मारी तो होश उड़ाने वाली जानकारी प्राप्त हुई। 

घायल वीरेन्द्र ठाकुर उर्फ गोरख ठाकुर बिहार बेतिया का मोस्ट वांटेड है। उसके खिलाफ 24 मुकदमे दर्ज हैं। चार साल की सजा काटकर लखनऊ आ गया और यहां पर नाम बदल कर रहने लगा। पिछले कई वर्षां से पुलिस उसकी तलाश में थी। जांच में यह पता चला है कि हनीट्रैप का जाल बिछाकर ठेकेदार को स्टेशन बुलाया गया था। वहीं, गोली मारने वाला इंजीनियर छात्र ने लालच में आकर वारदात को अंजाम दिया है। 

क्षेत्राधिकारी ने बताया कि जीआरपी पुलिस इस खुलासे तक पहुंच गई है। देर रात तक गिरफ्तार महिलाओं को लखनऊ लाया जायेगा तथा, शूटर की भी जल्द ही गिरफ्तारी कर ली जाएगी। 

अधिक राज्य की खबरें