रुस जाने से पहले योगी के निर्देश, त्यौहारों पर चैकन्ना रहें अधिकारी
मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपदों में थाना स्तर पर पीस कमेटी की बैठकें सुनिश्चित करते हुए संवाद स्थापित किया जाए।


लखनऊ :  रुस की तीन दिवसीय यात्रा पर जाने से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार देर रात सूबे के सभी अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया कि आगामी त्यौहारों के समय वे चैकन्ना रहें। उन्होंने कहा कि सुरक्षा के पर्याप्त प्रबन्ध सुनिश्चित कर सभी पर्व शान्तिपूर्वक सम्पन्न कराये जायें। 

मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आगामी पर्वों एवं स्वतंत्रता दिवस के सम्बन्ध में वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थे। इस दौरान आगामी ईद-उल-अज़हा (बकरीद), सावन का अंतिम सोमवार, रक्षा बन्धन, स्वतंत्रता दिवस, जन्माष्टमी के अवसर पर कानून-व्यवस्था के सम्बन्ध में उन्होंने पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि सुरक्षा के पर्याप्त प्रबन्ध सुनिश्चित कर लिए जाएं। उन्होंने हर स्तर पर त्योहार को शान्तिपूर्वक सम्पन्न कराने, सुरक्षा प्रबन्ध चाक-चैबन्द रखने तथा असामाजिक तत्वों पर कड़ी निगाह रखने के भी निर्देश दिये हैं। परम्परा के विपरीत किसी भी कार्य को किये जाने की मंजूरी न दी जाए।

योगी ने कहा कि वर्तमान में श्रावण मास चल रहा है, जिसमें कांवड़ियों द्वारा कांवड़ यात्रा की जा रही है, जिसका अंतिम सोमवार और बकरीद, एक ही दिन अर्थात 12 अगस्त को होगी। इसके दृष्टिगत सतर्क दृष्टि रखी जाए, ताकि कोई अप्रिय घटना न घटित हो। उन्होंने संवेदनशील जनपदों एवं स्थलोें के दृष्टिगत पूर्व तैयारी एवं कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि ईद-उल-अज़हा के अवसर पर सभी जनपदों में गैर-परम्परागत रूप से खुले स्थानों पर विशेषकर मिश्रित आबादी वाले या धर्मस्थलों के निकट किसी भी प्रकार के विवाद की आशंकाओं को हर हाल में रोका जाए। जहां विवाद की आशंका हो, वहां पर पहले से पुलिस पिकेट, गश्त आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए, ताकि किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना घटित न हो। 

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि ईद-उल-अज़हा के अवसर पर नमाज़ के समय, मन्दिरों में पूजा-अर्चना तथा जल चढ़ाते समय सतर्क दृष्टि रखी जाए। उन्होंने निर्देश दिये कि प्रतिबन्धित पशुओं या गोवंशी पशुओं की कुर्बानी के सम्बन्ध में विशेष सतर्कता बरतते हुए इन्हें रोका जाए, ताकि कोई अप्रिय घटना घटित न हो। उन्होंने ईद-उल-अज़हा के दौरान पूर्व में हुई घटनाओं एवं संवेदनशील जनपदों व स्थलों की समीक्षा किये जाने के निर्देश देते हुए कहा कि असामाजिक तत्वों के विरुद्ध निरोधात्मक कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। 

उन्होंने कहा कि सभी उच्चाधिकारी क्षेत्रों में भ्रमण करें। अधिकारीगण अपने-अपने सम्बन्धित जनपदों में भ्रमण तथा थाना स्तर पर निरीक्षण भी करें। त्योहारों के सम्बन्ध में आवश्यक सावधानियों के दृष्टिगत त्यौहार रजिस्टर का अवलोकन करते हुए कार्रवाई करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपदों में थाना स्तर पर पीस कमेटी की बैठकें सुनिश्चित करते हुए संवाद स्थापित किया जाए। विवादित विषयों पर पूर्व से ही समाधान निकाला जाए। सोशल मीडिया पर भी सतर्क दृष्टि रखी जाए। अफवाहों को फैलने से रोका जाए और उनका तत्काल खण्डन किया जाए। सार्वजनिक स्थलों पर कुर्बानी न होने दी जाए। मदरसों एवं अन्य शिक्षण संस्थानों में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विशेष ध्यान दिया जाए। तिरंगा यात्रा आदि की भी जानकारी कर ली जाए। भू-सम्बन्धी एवं अन्य विवादों का समाधान सुनिश्चित किया जाए। डायल-100 की गाड़ियां निरन्तर गतिशील रहें। 

पूर्व में, मुख्य सचिव डाॅ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय एवं अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आगामी पर्वों एवं स्वतंत्रता दिवस के दृष्टिगत सभी अधिकारियों को सतर्क रहने, साफ-सफाई की व्यवस्था, निर्बाध विद्युत एवं जलापूर्ति सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए। पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कानून व्यवस्था के सम्बन्ध में निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिये। 

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव आईटी एवं इलेक्ट्राॅनिक्स आलोक सिन्हा, प्रमुख सचिव नगर विकास मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव ऊर्जा आलोक कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, एडीजी (कानून व्यवस्था) भी उपस्थित थे। 

अधिक राज्य की खबरें

कमलेश तिवारी हत्याकांड : हत्यारों ने चाकू से किए थे ताबड़तोड़ 13 वार, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा..

शुक्रवार को हिन्दू नेता कमलेश तिवारी की निर्मम हत्या के बाद शनिवार (आज) देर शाम पोस्टमार्टम रिपोर्ट ......