पत्नी की हत्या के मामले में आईएएस अधिकारी को मिली क्लीन चिट
मृतका के चचेरे भाई राजीव सिंह ने बहनोई पर बहन की हत्या का आरोप लगाया था।


लखनऊ : चिनहट थाना क्षेत्र स्थित विकल्पखंड स्थित सूडा के निदेशक व आईएएस अधिकारी उमेश प्रताप सिंह की पत्नी अनीता के मौत मामले में क्लीन चिट मिल गई है। अनीता की मौत के बाद मायके पक्ष ने पति पर हत्या  का आरोप लगाया था। 

लखनऊ स्थित सूडा में निदेशक के पद पर तैनात आईएएस अधिकारी उमेश प्रताप सिंह की पत्नी अनीता की गोली लगने से एक सितम्बर को मौत हो गई थी। मृतका के चचेरे भाई राजीव सिंह ने बहनोई पर बहन की हत्या का आरोप लगाया था। इस मामले में पुलिस ने आईएएस अधिकारी पर मुकदमा दर्ज कर जांच कर रही थी। जबकि आईएएस अधिकारी ने अपर मुख्य सचिव गृह को पत्र लिखकर खुद को निर्दोष होने की बात कही थी।

रविवार देर रात ने विधि विज्ञान प्रयोगशाला ने अपनी रिपोर्ट पुलिस कप्तान कलानिधि नैथानी को सौंपी। इस रिपोर्ट के मुताबिक, अनीता ने खुदकुशी की है। रिपोर्ट में कहा गया है सामान्य परिस्थितियों में गोली लगने की जगह छोटा सुराख होता है तथा  निकास के जगह बड़ी होती। लेकिन नजदीक से गोली लगने की स्थिति में घाव का आकार बड़ा होता जाता है और निकास की जगह छोटी होती है। पोस्टमॉर्टम में मृतका के शरीर पर आई गोली का घाव स्वतः कारित किए जाने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। मृतका व उनके पति का हैंडवॉश कराया गया था, लेकिन किसी में गन पाउडर के साक्ष्य नहीं मिले।
वहीं, इस मामले में अब आईएएस अधिकारी ने चिनहट थाना में मृतका के चचेरे भाई राजीव सिंह के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया है। उन्हें अपनी और परिवार की सुरक्षा की मांग की शासन से की है। 

अधिक राज्य की खबरें