नाबालिग घरेलू सहायिका के साथ गैंगरेप, दो आरोपित गिरफ्तार
अच्छी नौकरी का झांसा देकर ले गये कमरे पर


नई दिल्ली: पश्चिमी जिले के मोती नगर इलाके में दो युवकों ने नाबालिग घरेलू सहायिका के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया है। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपित मौके से फरार हो गए। इधर नाबालिग रोते हुए ईएसआई अस्पताल के गेट के बाहर बैठ गई। लड़की को रोता देख गार्ड ने पूछताछ की तो लड़की ने पूरी आपबीती बताई। उसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई। मोती नगर थाना पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए केस दर्ज कर नाबालिग लड़की से पूछताछ शुरू की और महज छह घंटे के भीतर दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। 


पश्चिमी जिले के डीसीपी दीपक पुरोहित के अनुसार आरोपितों की पहचान बसई धारापुर निवसी रवि (25) और अंकित (25) को गिरफ्तार कर लिया। डीसीपी के अनुसार 16 वर्षीय पीड़ित मूलत: पश्चिम बंगाल की रहने वाली है। करीब तीन माह पहले ही वह दिल्ली आई थी और मोती नगर स्थित एक घर में घरेलू सहायिका का काम कर रही थी। सोमवार शाम वह कुछ सामान लेने के लिए घर से बाहर निकली। वापस आते समय वह रास्ता भटक गई। 

अच्छी नौकरी का झांसा देकर ले गये कमरे पर 
पुलिस को दी शिकायत में पीड़ित ने बताया कि वह रास्ता खोजते हुए एक पार्क के पास पहुंची। वहां दो युवक बैठे हुए थे। पीड़ित ने रास्ता भटक जाने की बात बताई, जिस पर दोनों ने पीड़ित से बातचीत कर कहा कि वह उसे दूसरी जगह अच्छी नौकरी दिलवा सकते हैं, जहां उसे रुपये भी ज्यादा मिलेंगे। पीड़ित दोनों युवकों की बातों में आई गई। दोनों युवक पीड़ित को ईएसआई अस्पताल स्थित एक मकान में ले गये, जहां दोनों ने उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपित मौके से फरार हो गये। 

गार्ड ने पुलिस को दी सूचना
इधर रोते हुए पीड़ित ईएसआई अस्पताल के गेट के पास बैठ गई। सोमवार तड़के करीब तीन बजे अस्पताल के गार्ड ने पीड़ित से रोने का कारण पूछा और मामले की सूचना पुलिस को दी। पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद पीड़िता ने पूरी आपबीती बताई। उसके बाद पुलिस ने पॉक्सो एवं गैंगरेप का केस दर्ज कर आस-पास के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला और महज छह घंटे के भीतर दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। 

अधिक राज्य की खबरें