तेज हवाओं के साथ बारिश ने किया किया फसल बर्बाद 
बारिश के वाद गिरी धान की फसल का दृश्य। 


पलियाकलां-खीरी : तराई में बारिश के न होने के चलते जहां शहरवासियों को भीषण गर्मी का सामना करना पड़ रहा था वहीं किसानों की फसलें सूखने की कगार पर पहुंच गईं थीं। इधर पिछले तीन दिनों से तराई में रुक रुक कर बारिश का सिलसिला शुरु हुआ तो किसानों के चेहरों पर खुशी दिखाई दी। लेकिन मंगलवार की रात तेज हवाओं के साथ हुई बारिश के चलते अधिकतर क्षेत्र के किसानों के खेतों में खड़ी गन्ने की फसल जमींदोज हो गई जिससे उनका बड़ा नुकसान हो गया। 

पलिया क्षेत्र का किसान पहले ही बकाया भुगतान को लेकर खासा परेशान है। भुगतान न होने के चलते किसानों के आगे बच्चों को पढ़ाने से लेकर खाने तक के लाले पड़े हुए हैं लेकिन उनकी समस्या का सामाधान करने वाला कोई नही दिखाई दे रहा है। इन सब समस्याओं के बीच भगवान भी किसानों की कड़ी परीक्षा ले रहा है। पहले बारिश न होने के चलते पानी की कमी से फसले सूख रहीं थी और जब बारिश हुई तो किसान बर्बाद ही हो गया। मंगलवार की शाम तेज हवाओं के साथ हुई बारिश के चलते सैकड़ों एकड़ किसानों के खेतों में खड़ी गन्ने की फसल जमींदोज हो गई जिससे किसानों का काफी बड़ा नुकसान हुआ।

अधिक राज्य की खबरें

उत्तर प्रदेश के इस जिले में जिलाधिकारी से लेकर कर्मचारी तक रोज सुबह लगाते हैं कार्यालय में झाड़ू..

उत्तर प्रदेश के जनपद गाजियाबद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान का असर साफ-साफ देखने को ......