तीन तलाक मामले में हुई पहली गिरफ्तारी
मोनू व उसके परिजन शादी के बाद से ही अतिरिक्त दहेज के लिए मारपीट करते थे।


एटा : केन्द्र सरकार द्वारा तीन तलाक निरोध का अधिनियम पारित होने के बाद जिले की अवागढ़ पुलिस ने तीन तलाक मामले में पहली गिरफ्तारी की है। एसएसपी सुनील कुमार सिंह ने बुधवार को बताया कि 19 अगस्त को अवागढ़ के बसुन्धरा की रहने वाली शाहिना ने पुलिस से शिकायत की थी कि उसकी शादी 16 अप्रैल 2016 को सुखदेवनगर थाना कोतवाली मथुरा निवासी मोनू के साथ हुई थी।


मोनू व उसके परिजन शादी के बाद से ही अतिरिक्त दहेज के लिए मारपीट करते थे। 21 जुलाई 2019 को उसके पति ने अपने परिजनों के कहने पर उसे तीन बार तलाक बोलकर घर से निकाल दिया। अवागढ़ थाने पर यह मामला पति मोनू शाह व उसके 7 अन्य परिजनों के खिलाफ पंजीकृत किया गया। इसके बाद से मोनू शाह फरार था जिसे अवागढ़ पुलिस ने एटा रोडवेज बस स्टैंड से गिरफ्तार किया गया है।

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)  

अधिक राज्य की खबरें

उत्तर प्रदेश के इस जिले में जिलाधिकारी से लेकर कर्मचारी तक रोज सुबह लगाते हैं कार्यालय में झाड़ू..

उत्तर प्रदेश के जनपद गाजियाबद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान का असर साफ-साफ देखने को ......