मवेशी बांधने के विवाद में किसान की पीट-पीटकर हत्या, आरोपी फरार     
जनपद के चौबेपुर थानाक्षेत्र में दो सगे भाइयों ने एक सब्जी बेचने जा रहे किसान को पीट-पीट कर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गए है।


कानपुर : जनपद के चौबेपुर थानाक्षेत्र में दो सगे भाइयों ने एक सब्जी बेचने जा रहे किसान को पीट-पीट कर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गए है।  बताया जा रहा है कि किसान सुबह सब्जी बेचने जा रहा था तभी गांव के रहने वाले दो सगे भाइयों ने उस पर हमला बोल दिया। किसान को खून से लहूलुहान देख ग्रामीणों ने तुरंत पुलिस को सूचना दी सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसान को अस्पताल पहुंचाया जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। किसान की हत्या से परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 

चौबेपुर थानाक्षेत्र के वाजिदपुर गांव निवासी हरीबाबू खेती करके परिवार का भरण पोषण करता था। रोजाना की भांति किसान बाइक से बाजार सब्जी बेचने जा रहा था। रास्ते में गांव के ही प्रदीप राठौर ने अपने भाई के साथ किसान को घेर लिया और लाठी डंडों से उसकी जमकर पिटाई कर दी, जिससे वह मरणासन्न हो गया। किसान को मरा समझकर आरोपी मौके से भाग निकले। ग्रामीणों ने किसान को लहूलुहान हालत में देखा तो परिजनों के साथ ही पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसान को नजदीक के सीएचसी अस्पताल में भर्ती कराया जहां पर डाक्टरों ने हैलट अस्पताल रेफर कर दिया। हैलट पहुंचने के पहले ही किसान दम तोड़ चुका था और डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
 
परिजनों ने आरोप लगाया कि आरोपी दबंग किस्म का व्यक्ति है और उसकी सेटिंग पुलिस से है। जिसके चलते कई बार शिकायत करने के बावजूद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की है।थानाध्यक्ष राकेश मौर्य ने बताया कि किसान ने अपने बयान में बताया कि प्रदीप राठौर और उसके भाई ने घटना को अंजाम दिया है। बताया कि जांच में यह बात भी सामने आयी है कि हरीबाबू और प्रदीप राठौर के घर के बीच जमीन पड़ी हुई है और उसमें भैंस बांधने को लेकर दोनों के बीच काफी दिनों से विवाद चल रहा था। 

परिजनों की ओर से तहरीर मिल चुकी है और मुकदमा दर्ज करते हुए आरोपियों की तलाश तेज कर दी गयी है। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण प्रद्युम्न सिंह ने बताया कि प्रथम दृष्टतया जांच में पता चला है कि मृतक और आरोपी के बीच काफी दिनों से विवाद चल रहा था। इस बात की भी जानकारी जुटाई जा रही है कि पुलिस ने पहले कार्रवाई क्यों नहीं की है, जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी।

अधिक राज्य की खबरें