शमशान घाट का वो मंजर, मां को मुखाग्नि देने पहुंचा बेटा और शुरू हुई खून की उल्टी
कांसेप्ट फोटो


उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले बिलारी के कोतवाली क्षेत्र में अमरपुरकाशी रतनपुर रोड़ के पास खाता गांव का है जहां बुधवार को एक वृद्धा की मौत हो गई थी। बताया जा रहा है कि मृतक वृद्ध रामकली बीते कुछ दिनों से बुखार से पीड़ित थी और इसी के चलते उसकी मौत हो गई लेकिन जब उसका बेटा शमशान घाट पहुंचा तो हर कोई दंग रह गया। 


शमशान घाट का वो मंजर

बताया गया कि श्मशान घाट में मां की चिता को मुखाग्नि देने के बाद बेटे को खून की उलटी आई और मौके पर उसने भी दम तोड़ दिया। बृहस्पतिवार की सुबह खाता गांव के शमशान में उसका अंतिम संस्कार किया गया। रामकली के बेटे विजेंद्र सिंह (55 वर्ष) ने  मुखाग्नि दी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जैसे ही रामकली की चिता जली तभी अचानक विजेंद्र सिंह को श्मशान में ही खून की उल्टियां होने लगीं। वह बेहोश से हो गए। मौके पर मौजूद रिश्तेदारों ने विजेंद्र को उपचार के लिए अस्पताल ले जाने को फोन करके 108 सेवा की एंबुलेंस को बुला लिया। 
 
ये मंजर देखकर हर कोई दंग रह गया। सबका कहना है कि वो अपनी मां के जाने का सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाया इसीलिए आज उसने भी दुनिया को अलविदा कह दिया। लोगों का कहना है कि वो अपनी मां की बहुत देखभाल करता था और उसने बहुत ज्यादा मानता भी था।


(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)

अधिक राज्य की खबरें