सपा नेता राम गोविंद चौधरी का बड़ा बयान, कहा-सरकार बनी तो 'सीएए' का विरोध करने वालों को देंगे पेंशन 
समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता राम गोविंद चौधरी  (फाइल फोटो) 


लखनऊ : नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ यूपी में अभी भी तकरार कम नहीं हो रही है.  उपद्रवियों द्वारा सरकारी सम्पतियों को नुकसान पहुंचाए जाने के बाद सरकार ने रिकवरी के लिए उपद्रियों के घर नोटिस भेजना शुरू कर दिया है. इस बीच योगी सरकार को घेरने वाले समाजवादी पार्टी (एसपी) के वरिष्ठ नेता राम गोविंद चौधरी ने संशोधित नागरिकता कानून का विरोध करने वाले लोगों का समर्थन करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में उनकी पार्टी की सरकार बनने पर ऐसे लोगों को पेंशन दी जाएगी. चौधरी ने बांग्लादेशियों का जिक्र करते हुए कहा, 'जो हमारी शरण में आ गया, वह हमारी शरण में है. हम सबकी रक्षा करने वाले लोग हैं .'


CAA का विरोध करने वालों को देंगे पेंशन  
इस सवाल पर कि अगर प्रदेश में अगली सरकार समाजवादी पार्टी की बनी तो सीएए का विरोध करने वाले लोगों को भी क्या लोकतंत्र रक्षा सेनानियों की तरह संविधान रक्षक के पद से नवाजेंगे, चौधरी ने कहा, 'बिल्कुल नवाजा जाएगा, और अगर केंद्र और प्रदेश में हमारी सरकार बनी तो उनको पेंशन दी जाएगी, क्योंकि उन्होंने संविधान बचाने का काम किया है। लोकतंत्र को बचाने के लिए आंदोलन किया है. '


विरोध के दौरान किसी प्रकार की अनहोनी होने पर परिजनों को मिलेगा मुआवजा
विधानसभा में एसपी और विपक्ष के नेता ने कहा कि जिन लोगों को सीएए का विरोध करने पर जेल हुई है या फिर इसे लेकर हुए संघर्ष में मौत हुई है, उनके परिवारवालों को मुआवजा दिया जाएगा. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र की मोदी सरकार सीएए, एनआरसी और एनपीआर के बहाने लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है. जो भी व्यक्ति सरकार के इस कदम पर सवाल उठाता है, उसे पाकिस्तान चले जाने को कह दिया जाता है. 

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)


अधिक राज्य की खबरें