दूल्हा पूरी रात करता रहा दुल्हन के ठीक होने का इंतजार, फिर हुआ ये
concept photo


उत्तर प्रदेश के कन्नौज में द्वार पूजा के समय दूल्हन की तबीयत बिगड़ जाने पर दूल्हे की गाड़ी से मेडिकल कॉलेज ले गए, जहां से कानपुर रेफर कर दिया गया। कानपुर में निजी अस्पताल के बचने की उम्मीद न देख डॉक्टर ने घर भेज दिया।

फिर भी ठीक होने की उम्मीद में दूल्हा बरातियों संग रुका रहा। कुछ देर बाद दुल्हन की मौत हो गई। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया, जिसमें फेफड़ों की बीमारी से मौत होने की पुष्टि हुई है। ठठिया थाना क्षेत्र के गांव भगतपुरवा में राजकिशोर बाथम की बेटी विनीता (19) शुक्रवार को शादी होनी थी।

कानपुर देहात के रसूलाबाद थाना क्षेत्र के गांव अमरूहिया से दूल्हा संजय पुत्र संतोष रात करीब आठ बजे बरात लेकर भगतपुरवा पहुंच गया। बैंडबाजे के साथ दरवाजे पहुंचे दूल्हे की द्वारपूजा की तैयारी चल रही थी। इसी बीच दुल्हन विनीता की तबीयत बिगड़ गई।

परिजन दूल्हे की कार से उसे मेडिकल कॉलेज तिर्वा ले गए, हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने कानपुर रेफर कर दिया। कानपुर के एक निजी अस्पताल में चिकित्सक ने हालत गंभीर बता घर ले जाने की सलाह दी। परिजन रात करीब दो बजे विनीता को घर ले आए। दूल्हा और बराती घर पर मौजूद थे। रात करीब तीन बजे विनीता ने दम तोड़ दिया।

सूचना मिलने पर थाना प्रभारी विजय और उप निरीक्षक परिवार के लोगों से जानकारी लेकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। दुल्हन की मौत के बाद दूल्हा फूट-फूट कर राेया। सुबह हुई तो बरात लेकर अपने घर लौट गया। थाना प्रभारी विजय बहादुर वर्मा ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में विनीता की मौत फेफड़े खराब होने से बताई गई है। वह करीब छह माह से फेफड़ों की बीमारी से पीड़ित थी।

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)

अधिक राज्य/उत्तर प्रदेश की खबरें