अयोध्या में मन्दिर के लिए सोनिया, लालू, नीतिश करें पहल: उमा
केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने एक बार फिर अयोध्या में राम मन्दिर की वकालत करते हुए कहा है कि वहां राम मन्दिर बनेगा और आम सहमति से बनेगा।


लखनऊ : केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने एक बार फिर अयोध्या में राम मन्दिर की वकालत करते हुए कहा है कि वहां राम मन्दिर बनेगा और आम सहमति से बनेगा। उन्होंने इस मुद्दे पर विपक्ष को भी आगे आने की सलाह दी है। उमा ने कहा कि सोनिया गांधी, लालू प्रसाद यादव और नीतिश कुमार इस मुद्दे पर बातचीत की पहल करें। 

उन्होंने कहा कि राम मन्दिर करोड़ों लोगों की आस्था का सवाल है। सोमनाथ की तर्ज पर अयोध्या में भव्य राम मन्दिर का निर्माण होना चाहिए। इस पर अब आन्दोलन की जरूरत नहीं है। बातचीत के जरिए इसका हल होना चाहिए। लोगों ने जनादेश इसके पक्ष में दिया है। उमा ने फिर कहा है कि मैं राम मन्दिर के लिए फांसी चढ़ने को भी तैयार हूं। इसके साथ ही उन्होंने अपनी बात दोहराते हुए कहा कि हमने कोई भी साजिश नहीं की, सब कुछ खुल्लम-खुल्ला हुआ। उन्होंने राम मन्दिर आन्दोलन में अपनी भागीदारी की पुष्टि करते हुए कहा कि बाबरी विध्वंस के समय वह परिसर से करीब आधा किलोमीटर दूर थीं।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि राम मन्दिर आन्दोलन से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) यहां तक पहुंची है। राम मन्दिर बनने का वक्त आ गया है। हमने राम मन्दिर आन्दोलन में भागीदारी की, इसमें साजिश की बात कहां से आ गई। उन्होंने कहा कि मुझे पद का मोह नहीं, मैं पद से चिपकने वाले लोगों में से नहीं हूं। 

उमा ने इस मामले में कल सुप्रीम कोर्ट के आये फैसले पर टिप्पणी करने से इनकार करते हुए कहा कि अदालत के फैसले पर उन्हें कुछ नहीं कहना है। उन्होंने कहा कि मामले को बिना तनाव पैदा किए भी सुलझाया जा सकता है और चाहें तो कोर्ट के बाहर भी मामले का हल निकाला जा सकता है।

इससे पहले कल इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उमा भारती ने अयोध्या का दौरा करने का ऐलान किया था, लेकिन बाद में उन्होंने अपना दौरा रद्द कर दिया। उन्होंने इसके पीछे एमसीडी चुनाव के प्रचार को वजह बताया। हालांकि चर्चा है कि पार्टी आलाकमान ने उमा भारती को अयोध्या जाने से रोका। 

कहा जा रहा है कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को डर था कि उमा भारती के अयोध्या जाने से प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार का विकास का एजेण्डा प्रभावित हो सकता था। इसलिए उमा ने बयान दिया कि उनके एमसीडी चुनाव को लेकर पहले से ही कुछ कार्यक्रम लगे थे, इसलिए वह अयोध्या नहीं जा पाएंगी। हालांकि उन्होंने बाद में वहां जरूर जाने की बात कही।

अधिक राज्य की खबरें