सुलखान सिंह बने उत्तर प्रदेश के नए डीजीपी
साथ ही एडीजी लॉ एण्ड आर्डर दलजीत की जगह पर आदित्य मिश्रा को कार्यभार सौंपा गया हैं।


लखनऊ : सपा सरकार में अच्छी पकड़ रखने वाले पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) जावीद अहमद को वर्तमान की प्रदेश सरकार ने हटा दिया है। उनकी जगह पर 1980 बैंच के आईपीएस अफसर सुलखान सिंह को नया डीजीपी बनाया गया। साथ ही एडीजी लॉ एण्ड आर्डर दलजीत की जगह पर आदित्य मिश्रा को कार्यभार सौंपा गया हैं। डीजीपी समेत 12 आईपीएस अधिकारियों के कार्यक्षेत्र में बदलाव हुए है। 

शुक्रवार को योगी सरकार ने बड़े स्तर से आईपीएस अधिकारियों में बदलाव किया है। साथ ही सपा सरकार में अच्छी पकड़ रखने वाले पुलिस महानिदेशक पद पर तैनात 1984 बैंच के आईपीएस अधिकारी जावीद अहमद को हटा कर उनके स्थान पर 1980 बैच के सबसे सीनियर और ईमानदार आईपीएस अधिकारी सुलखान सिंह को नया डीजीपी बनाया गया है। वहीं एडीजी लॉ दलजीत चौधरी की जगह 1989 बैच के आईपीएस अधिकारी आदित्य मिश्रा को अपर पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था के पद पर तैनात किया गया है।
 
प्रदेश सरकार ने पूर्व डीजीपी जावीद अहमद को पुलिस महानिदेशक पीएसी, डा. सुर्य कुमार को पुलिस महानिदेशक अभियोजन के अतिरिक्त प्रभार से अवमुक्त पुलिस महानिदेशक/अध्यक्ष उप्र पुलिस भर्ती प्रोन्नति बोर्ड के पद पर बने रहेंगे। जवाहर लाल त्रिपाठी को लखनऊ पुलिस महानिदेशक अभिसूचना से पुलिस महानिदेशक अभियोजन बनाया गया है। आलोक प्रसाद को पुलिस महानिदेशक होमगार्ड के साथ साथ प्रशिक्षण मुख्यालय का अतिरिक्त कार्यभार दिया गया है।

 भवेश कुमार सिंह को अपर पुलिस महानिरिक्षक अभिसूचना लखनऊ बनाया गया है। विजय कुमार अपर पुलिस महानिदेशक सुरक्षा, प्रतिक्षारत आलोक सिंह को पुलिस महानिरीक्षक पीएसी ईस्टर्न जोन भेजा गया है। संजय सिंघल पुलिस महानिरीक्षक पीएसी मध्य मिला है। नवनीत सिकेरा पुलिस महानिरीक्षक वुमेन पावर लाइन के पद के साथ-साथ पीएसी मध्य जोन का कार्यभार सौंपा गया है। 

अधिक राज्य की खबरें