योगी सरकार का बड़ा फैसला, यूपी में शादी का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य
सुप्रीम कोर्ट ने शादी का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य करने का निर्देश दिया है।


लखनऊ : उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने शादी का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य कर दिया है। अब सभी धर्मों के लोगों को अपनी शादी का रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। बता दें कि पूर्व में ही योगी सरकार ने विवाह रजिस्ट्रेशन अनिवार्य करने की तैयारी कर ली थी। इसके लिए महिला कल्याण विभाग को नियमावली तैयार करने का निर्देश दिया गया था।

सुप्रीम कोर्ट ने शादी का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य करने का निर्देश दिया है। इसके बाद से कई राज्यों में इसे अनिवार्य कर दिया गया है। बिहार, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और केरल ने शादी के रजिस्ट्रेशन को अपने यहां अनिवार्य करने के नियम लागू कर दिए हैं। इन राज्यों में पंजीकरण न कराने वालेों से जुर्माना भी वसूला जाता है।

अखिलेश यादव के शासनकाल में भी 2015 में मंत्री अहमद हसन की अध्यक्षता में एक समिति बनाई गई थी। इस समिति की सिफारिशों में मुस्लिम समुदाय को छूट देने की खबरें भी मीडिया में आई थीं, लेकिन आखिरी में कोई नियम नहीं बन सका। 

अधिक राज्य की खबरें