नवम्बर में राष्ट्रपति चुनाव से पहले ट्रंप-बाइडेन के बीच पहली प्रेसिडेंशियल डिबेट, दोनों नेताओं नहीं मिलाया हाथ
डोनाल्ड ट्रंप और जो बाइडेन


नई दिल्ली : अमेरिका में इस साल नवम्बर में राष्ट्रपति चुनाव होने वाले हैं. उससे पहले डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन और रिपब्लिकन की ओर से डोनाल्ड ट्रंप के बीच पहली प्रेसिडेंशियल डिबेट हुई. अटलांटा में हो रही 90 मिनट की इस डिबेट को CNN ने आयोजित कराया था.

आमतौर पर राष्ट्रपति चुनाव से पहले सितंबर के आसपास होने वाली ये पहली प्रेसिडेंशियल डिबेट कई महीने पहले हुई. इस डिबेट में इजरायल-हमास जंग से लेकर, रूस-यूक्रेन युद्ध, चीन से अमेरिका के संबंधों, अबॉर्शन, गन वायलेंस, टैक्स, महंगाई, बेरोजगारी, क्लाइमेट चेंज और अवैध प्रवासियों जैसे मुद्दों पर तीखी बहस हुई.

बाइडेन और ट्रंप ने नहीं मिलाया हाथ
इस प्रेसिडेंशियल डिबेट की शुरुआत में जैसे ही दोनों नेता स्टेज पर पहुंचे. उन्होंने एक-दूसरे से हाथ नहीं मिलाया. बाइडेन ने ट्रंप को हेल्लो कहा लेकिन ट्रंप ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. इस डिबेट की शुरुआत अमेरिका में बढ़ रही महंगाई के मुद्दे से हुई. बाइडेन ने ट्रंप पर आरोप लगाया कि ट्रंप के राष्ट्रपति पद से हटने के बाद उन्हें ऐसी अर्थव्यवस्था मिली, जो खस्ताहल थी.

बाइडेन ने कहा कि उन्होंने बड़े पैमाने पर रोजगारों का सृजन किया और बढ़ती दवाइयों की कीमतों पर लगाम लगाई. इसके जवाब में ट्रंप ने कहा कि बाइडेन सरकार में अमेरिका में बड़ी तादाद में अवैध प्रवासी पहुंचे हैं.

ट्रंप ने बाइडेन सरकार के पहले साल में ही अफगानिस्तान से अमेरिकी फौजों की रवानगी पर उन्हें जमकर घेरा. ट्रंप ने कहा कि बाइडेन के कार्यकाल में अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना का निकलना शर्मनाक था. हम अफगानिस्तान में कई अरब डॉलर की सैन्य सामग्री और हथियार छोड़कर आए हैं. हमारे सैनिक वहां मारे गए हैं.

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)

अधिक विदेश की खबरें