डिबेट में ट्रंप से बाइडेन, राष्ट्रपति पद की रेस से हटाने की होने लगी मांग, डेमोक्रेटिक पार्टी उठाएगी बड़ा कदम
जो बाइडेन (File Photo)


नई दिल्ली : अमेरिका में इस साल पांच नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव होने जा रहे हैं. चुनाव से पहले रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक पार्टियों ओर से पद के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप और जो बाइडेन के बीच पहली लाइव डिबेट हुई. लेकिन इस डिबेट में बाइडेन पर ट्रंप भारी पड़ते नजर आए. ऐसे में राजनीतिक गलियारों से लेकर मीडिया और आम जनता के बीच ऐसी अटकलें हैं कि बाइडेन को इस रेस से हट जाना चाहिए.

दरअसल इस डिबेट के बाद न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपने एडिटोरियल में कहा था कि अपने देश की सेवा करने के लिए राष्ट्रपति बाइडेन को इस रेस से हट जाना चाहिए. इसके बाद एक वर्ग बाइडेन से रेस से हटने की मांग कर रहा है. लेकिन बाइडेन और उनकी प्रचार समिति ने दो टूक कह दिया है कि वह हार मानने को तैयार नहीं हैं और इस रेस से पीछे नहीं हटेंगे.

बाइडेन के राष्ट्रपति रेस से हटने की क्यों उठी मांग
दरअसल बीते हफ्ते डोनाल्ड ट्रंप और जो बाइडेन के बीच पहले लाइव टीवी डिबेट हुई थी. इस डिबेट में बाइडेन का प्रदर्शन खासा खराब रहा. वह डिबेट के बीच में कई बार फ्रीज हो गए. कई बार उनकी जबान लड़खड़ाती नजर आई. ट्रंप के आरोपों को वह सही तरीके से काउंटर भी नहीं कर पाए. इसके बाद से दबी जुबान में ऐसी चर्चा रही कि बाइडेन मौजूदा हालत में ट्रंप को हरा नहीं पाएंगे.

डेमोक्रेटिक पार्टी के शीर्ष नेताओं ने पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर बाइडेन के हटने की संभावनाओं को खारिज किया. इसके बजाए पार्टी ने ट्रंप के साथ सितंबर में होने वाली दूसरी लाइव डिबेट की तैयारियों पर फोकस करने को कहा है. न्यूयॉर्क टाइम्स ने सूत्रों के हवाले से बताया कि बाइडेन का परिवार उन्हें इस रेस में बने रहने पर जोर दे रहा है. अटलांटा जर्नल कॉन्स्टिट्यूशन ने बीते रविवार को अपने संपादकीय में कहा कि अब राष्ट्रपति बाइडेन के लिए राजनीति से रिटायर हो जाना जरूरी है.


(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)

अधिक विदेश की खबरें