शरद पवार का एमवीए को बड़ा संकेत
फाइल फोटो


महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव से पहले सियासी हलचल तेज हो गई है। लोकसभा चुनाव में आसानाी से सीट बंटवारा करने वाली एनसीपी (सपा) अब अलग तेवर में लग रही है।

अब ज्यादा सीटों पर लड़ेगी NCP (SP)

दरअसल, एनसीपी (एसपी) ने लोकसभा चुनाव के दौरान महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सहयोगियों की तुलना में कम सीटों पर चुनाव लड़ने पर सहमति जताई थी, लेकिन विधानसभा (Maharashtra Election) चुनावों में उसके सुर बदलते दिख रहे हैं। पार्टी बैठक में शरद पवार ने संकेत दिए हैं कि वो अब कम सीटों पर समझौता नहीं करेंगे।

गठबंधन बचाने को कम सीटों पर लड़ेः पवार

पार्टी के एक नेता ने पार्टी सुप्रीमो शरद पवार के हवाले से कहा कि पवार ने बीते दिन दो बैठकें कीं, एक पुणे शहर और जिले के पार्टी पदाधिकारियों के साथ और दूसरी अपने विधायकों और नवनिर्वाचित सांसदों के साथ।

पहली बैठक में शामिल हुए पुणे एनसीपी (सपा) प्रमुख प्रशांत जगताप ने कहा कि पवार ने सभा को बताया कि पार्टी ने लोकसभा चुनावों में कम सीटों पर चुनाव इसलिए लड़ा ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि शिवसेना (यूबीटी) और कांग्रेस के साथ गठबंधन बरकरार रहे।

जगताप ने आगे कहा, 

शरद पवार ने संकेत दिया है कि विधानसभा चुनावों में तस्वीर अलग होगी। एनसीपी (सपा) प्रमुख ने पुणे, बारामती, मावल और शिरूर लोकसभा क्षेत्रों के विधानसभा क्षेत्रों की स्थिति की भी समीक्षा की। 

कितनी सीट मांगेगी पार्टी, यह तय नहीं

दूसरी बैठक में शामिल हुए एक पार्टी नेता ने कहा कि पवार ने सांसदों और विधायकों से विधानसभा चुनाव के लिए तैयार रहने को कहा। इस बीच, राज्य एनसीपी (सपा) प्रमुख जयंत पाटिल ने कहा कि पार्टी ने अभी तक यह तय नहीं किया है कि वह एमवीए सीट बंटवारे की बातचीत के दौरान कितनी सीटें मांगेगी। बारामती विधानसभा सीट के उम्मीदवार के बारे में भी अभी फैसला नहीं हुआ है। अभी इस सीट का प्रतिनिधित्व वर्तमान में महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार कर रहे हैं।


अधिक देश की खबरें

बजट से नाखुश सपा और कांग्रेस, अखिलेश बोले नाउम्मीदगी का पुलिंदा, कांग्रेस बोली- बजट में न्यायपत्र की छाप

बजट से नाखुश सपा और कांग्रेस, अखिलेश बोले नाउम्मीदगी का पुलिंदा, कांग्रेस बोली- बजट में न्यायपत्र की छाप..

मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल का पहला आम बजट पेश हो गया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ... ...