शिवानी राजा ब्रिटेन में फिर बढ़ाया भारत का मान, ब्रिटेन की संसद में भगवद गीता हाथ में लेकर ली शपथ
शिवानी राजा


लंदन : ब्रिटेन के चुनाव में ऋषि सुनक को सत्ता से बेदखल कर कीर स्टार्मर नए प्रधानमंत्री बन चुके हैं. उन्होंने लेबर पार्टी के 14 साल के वनवास को खत्म किया है. इस चुनाव में एक नाम जो ज्यादा चर्चा में है वह शिवानी राजा. उन्होंने ब्रिटेन की संसद में कुछ ऐसा कर दिया है जिससे एक बार फिर उन्होंने दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा है. भारतीय मूल की 29 वर्षीय गुजराती व्यवसायी शिवानी राजा ने ब्रिटेन की संसद में भगवद गीता पर शपथ ली है. हालांकि यह लेबर पार्टी की नेता नहीं हैं.

बता दें कि शिवानी ने कंजर्वेटिव पार्टी के लिए लीसेस्टर ईस्ट सीट पर ऐतिहासिक जीत हासिल की, जिससे इस निर्वाचन क्षेत्र में लेबर पार्टी का 37 साल का वर्चस्व खत्म हो गया. वह भारतीय मूल के लेबर उम्मीदवार राजेश अग्रवाल के खिलाफ चुनाव लड़ रही थीं. ब्रिटेन की सांसद के रूप में शपथ लेने के तुरंत बाद शिवानी ने एक्स को लिखा ‘लीसेस्टर ईस्ट का प्रतिनिधित्व करने के लिए आज संसद में शपथ लेना सम्मान की बात है. मुझे गीता पर महामहिम राजा चार्ल्स के प्रति अपनी निष्ठा की शपथ लेने पर वास्तव में गर्व है.’

लीसेस्टर में हो चुके हैं दंगे
शिवानी की जीत लीसेस्टर सिटी के हालिया इतिहास को देखते हुए उल्लेखनीय है, जहां 2022 में भारत बनाम पाकिस्तान टी20 एशिया कप मैच के बाद भारतीय हिंदू समुदाय और मुसलमानों के बीच संघर्ष हुआ था. शिवानी राजा ने 14,526 वोट हासिल किए और लंदन के पूर्व डिप्टी मेयर अग्रवाल को हराया, जिन्हें 10,100 वोट मिले थे.

शिवानी की जीत क्यों है महत्वपूर्ण?
यह जीत इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि लीसेस्टर ईस्ट 1987 से लेबर का गढ़ रहा है. शिवानी की जीत ने 37 वर्षों में पहली बार इस निर्वाचन क्षेत्र से टोरी को चुना है. शिवानी के अलावा, यूनाइटेड किंगडम में 4 जुलाई को हुए आम चुनाव में 27 अन्य भारतीय मूल के संसद सदस्य हाउस ऑफ कॉमन्स के लिए चुने गए हैं.

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)


अधिक विदेश की खबरें