इजराइल हमले में ईरानी जनरल की मौत, एक बाद एक दागी कई मिसाइलें, ईरान ने दी ये धमकी
इज़राइल ने कब्जे वाले सीरियाई गोलान हाइट्स की दिशा से हमला किया.


दमिश्क : इजराइल ने सीरिया की राजधानी दमिश्क में ईरानी दूतावास परिसर में स्थित वाणिज्य दूतावास की इमारत पर मिसाइलों से हमला किया. हमले में इमारत जमींदोज हो गई और कई लोग हताहत हुए. यह जानकारी एक मीडिया रिपोर्ट में दी गई. सोमवार को हमले के बाद दमिश्क के पश्चिम में माज़ेह राजमार्ग पर स्थित इमारत से धुएं का गुबार उठते देखा गया. समाचार एजेंसी शिन्हुआ रिपोर्ट के अनुसार, ध्वस्त इमारत ईरानी दूतावास का हिस्सा है.इसके मलबे के बीच एक ईरानी झंडा लगा हुआ है.

सीरियाई रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि हमला सोमवार शाम करीब पांच बजे हुआ. इज़राइल ने कब्जे वाले सीरियाई गोलान हाइट्स की दिशा से हमला किया. इसमें कहा गया है कि सीरिया की वायु सेना ने कुछ मिसाइलों को रोक दिया.ह मले में अनेक लोग मारे गए और घायल हो गए. मौके पर पहुंचे सीरिया के विदेश मंत्री फैसल मेकदाद ने हमले की निंदा की. उन्होंने कहा कि इजराइली हमले से सीरियाई-ईरानी संबंधों पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

ईरान के विदेश मंत्री होसैन अमीराब्दुल्लाहियान ने एक बयान में कहा कि हमले के लिए इज़राइल जिम्मेदार है. इजराइली रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि पिछले साल सात अक्टूबर को इजराइल और हमास के बीच युद्ध शुरू होने के बाद ज़ाहेदी सबसे वरिष्ठ ईरानी अधिकारी हैं, जिनकी मौत हुई है.

सूत्रों के मुताबिक, ज़ाहेदी का स्थान दिसंबर, 2023 में मारे गए सैय्यद रज़ा मौसवी से ऊपर था. सूत्रों के अनुसार, हिज़्बुल्लाह के साथ ईरान की बातचीत में ज़ाहेदी सबसे वरिष्ठ अधिकारी थे. उनकी मौत को ईरान और उसकी सेना के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है. ज़ाहेदी ने ईरानी वायु सेना की कमान संभाली थी और इजराइली एजेंसियों के अनुसार, वह हिजबुल्लाह के लिए लेबनान में हथियारों की तस्करी के लिए जिम्मेदार था.

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)

अधिक विदेश की खबरें

इजरायल ने किया ईरान के न्‍यूक्लियर प्‍लांट पर हमला, तेहरान जाने वाली सभी फ्लाइट्स सस्पेंड

इजरायल ने किया ईरान के न्‍यूक्लियर प्‍लांट पर हमला, तेहरान जाने वाली सभी फ्लाइट्स सस्पेंड..

सीरिया की राजधानी दमिश्‍क में ईरानी दूतावास पर एयर स्ट्राइक के बाद पश्चिम एशिया में हालात लगातार ......