चीन ने पाकिस्तान को दिया बड़ा झटका, तालिबान सरकार दी मान्यता, ऐसा करने वाला बना दुनिया का पहला देश
शी जिनपिंग (File Photo)


नई दिल्ली : चीन को अपना सगा समझने वाले पाकिस्तान को एक बड़ा झटका लगा है. दरअसल अफगानिस्तान में जिस तालिबानी सरकार से पाकिस्तान नाराज चल रहा है, उसे बीजिंग ने अपने यहां राजनयिक रखने की मान्यता दे दी है. यही नहीं दुनिया में ऐसा करने वाला चीन पहला देश बन गया है. इससे पहले किसी भी देश ने तालिबानी सरकार को आधिकारिक मान्यता नहीं दी है.


चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने मंगलवार को एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा, अफगानिस्तान के लंबे समय से मित्रवत पड़ोसी के रूप में चीन का मानना है कि अफगानिस्तान को अंतरराष्ट्रीय समुदाय से बाहर नहीं किया जाना चाहिए. इससे पहले काबुल से आई रिपोटर्स में कहा गया था कि चीन ने तालिबान द्वारा नामित बिलाल करीमी को राजदूत का दर्जा दिया है. उन्होंने चीनी विदेश मंत्रालय को अपना परिचय पत्र सौंप दिया है.

'2021 में अफगानिस्तान में छिड़ा था युद्ध'
अफगानिस्तान अगस्त 2021 में युद्ध की चपेट में आया था. वहीं अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद तालिबान ने अफगानिस्तान पर हमला कर उस पर नियंत्रण कर लिया था. चीन ने पाकिस्तान और रूस के साथ काबुल (अफगानिस्तान) में अपना दूतावास बनाए रखा.

'महिलाओं के साथ व्यवहार पर तालिबान की निंदा'
उस समय विशेष रूप से महिलाओं और लड़कियों के साथ गलत व्यवहार पर तालिबानी प्रशासन की वैश्विक रूप से आलोचना हुई थी. अफगानिस्तान में महिलाओं को शैक्षणिक संस्थानों से हटा दिया था. तब भी बीजिंग ने तालिबान के अंतरिम प्रशासन के साथ निकट संपर्क बनाए रखा था. हालांकि, आधिकारिक मान्यता रोक दी थी.


(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)


अधिक विदेश की खबरें

तालिबान सरकार का महिला टीवी एंकरों को चेतावनी, न्यूज पढ़ते समय सिर्फ दिखनी चाहिए आंखें, चेहरा नहीं 

तालिबान सरकार का महिला टीवी एंकरों को चेतावनी, न्यूज पढ़ते समय सिर्फ दिखनी चाहिए आंखें, चेहरा नहीं ..

अफगानिस्तान में तालिबान प्रशासन ने एक नया तालिबानी फरमान जारी किया है. इस बार इस तालिबानी फरमान ... ...