जियो को जापानी बैंकों से मिलेगा 3250 करोड़ रुपए ऋण
टेलिकॉम ऑपरेटर रिलांयंस जियो और जापान के विभिन्न बैंकों के बीच एक करार हुआ है।


नई दिल्ली : टेलिकॉम ऑपरेटर रिलांयंस जियो और जापान के विभिन्न बैंकों के बीच एक करार हुआ है। इसके तहत जियो को समुराई टर्म लोन के रूप में 3,250 करोड़ रुपए की राशि मिलनी है। दोनों पक्षों ने समझौते पर हस्ताक्षर कर डील को अंतिम रूप दे दिया है। 

जियो की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक इसके लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने गारंटी दी है और इसका इस्तेमाल जियो के पूंजीगत खर्च में किया जाएगा

उल्लेखनीय है कि अभी एक जापानी येन की कीमत .60 रुपए के बराबर है। इस लिहाज से लोन की कुल राशि करीब 3,248 करोड़ रुपए है। कंपनी ने अपने बयान में कहा है कि यह किसी भी एशियाई कॉर्पोरेट को समुराई लोन के रूप में दी गई अब तक की सबसे बड़ी राशि है। जियो का मिजुहो बैंक लिमिटेड, एमयूएफजी बैंक और सुमितोमो मित्सुई बैंकिंग कॉर्पोरेशन के साथ इस टर्म लोन को लेकर समझौता हुआ है। 

पिछले महीने रिलायंस जियो बोर्ड ने 20,000 करोड़ रुपए का कर्ज जुटाने को मंजूरी दी थी। जियो ने अपने मोबाइल व्यवसाय में 3 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया है और मुकेश अंबानी की कंपनी अपने भाई अनिल अंबानी के मोबाइल व्यवसाय से जुड़ी संपत्ति को खरीदने में 25,000 करोड़ का निवेश करने जा रही है।


अधिक बिज़नेस की खबरें