सेंसेक्‍स ऑल टाइम हाई 38000 अंक के पार पहुंचा, निफ्टी ने भी लगाई छलांग
File Photo


मुंबई: बीएसई बेंचमार्क सेंसेक्‍स गुरुवार को बाजार खुलने के साथ 162.56 अंक चढ़कर 38050 के मनोवैज्ञानिक स्‍तर को पार कर गया. एनएनई भी छलांग लगाता हुआ 45.20 अंक ऊपर 11495.20 अंक पर पहुंच गया. इससे पहले बुधवार को संवेदी सूचकांक 37,887.56 अंक की नई रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुआ. रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में तेजी के साथ अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष के बयान से शेयर बाजारों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा और बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 221.76 अंक की बढ़त के साथ बंद हुआ.

आईएमएफ के बयान ने भरी सेंसेक्‍स में नई जान
आईएमएफ ने कहा है कि भारत अगले कुछ दशकों तक वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए वृद्धि का स्रोत बना रहेगा और विश्व अर्थव्यवस्था में यह उस स्थिति में पहुंच जायेगा जहां चीन रहा है. हालांकि उसने अर्थव्यवस्था में और ढांचागत सुधारों पर जोर दिया है. नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी बुधवार को 60.55 अंक की बढ़त के साथ पहली बार 11,400 अंक के ऊपर बंद हुआ.

एफआईआई ने बढ़ाया बाजार में निवेश
विदेशी संस्थागत निवेशकों की तरफ से पूंजी प्रवाह बने रहने तथा घरेलू संस्थागत निवेशकों की ताजा लिवाली से शेयर बाजारों में तेजी रही. कारोबारियों के अनुसार पहली तिमाही में कंपनियों के बेहतर परिणाम तथा अमेरिकी शेयर बाजारों के अब तक के नए उच्चस्तर की तरफ बढ़ने से निवेशक धारणा को बल मिला.

6 अगस्‍त को 37,692 पर हुआ था बंद
बुधवार को 30 शेयरों वाले सेंसेक्स की शुरुआत सतर्कता के साथ हुई और एक समय यह 37,931.24 की नई ऊंचाई पर पहुंच गया. अंत में 221.76 अंक या 0.59 प्रतिशत की तेजी के साथ अब तक के नये रिकार्ड स्तर 37,887.56 अंक पर बंद हुआ. इससे पहले, छह अगस्त को सेंसेक्स रिकॉर्ड 37,691.89 अंक पर बंद हुआ था.

एनएसई नए स्‍तर पर पहुंचा
नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 60.55 अंक या 0.53 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,450 अंक की नई ऊंचाई पर बंद हुआ. शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने मंगलवार को 314.83 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) ने 319.90 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे.

कंपनियों के तिमाही परिणाम ने लगाई आग
जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, 'हल्की शुरुआत के बाद एफआईआई प्रवाह बढ़ने और उम्मीद के अनुरूप कंपनियों के तिमाही परिणाम से बाजार नई ऊंचाई पर पहुंचा. मजबूत घरेलू कारक परिदृश्य को बेहतर बनाएंगे जबकि तेल तथा रुपये की विनिमय दर में उतार-चढ़ाव से तेजी की चाल धीमी पड़ सकती है.' उन्होंने कहा, 'वैश्विक बाजारों में मिला-जुला रुख रहा क्योंकि निवेशक अमेरिका और चीन के व्यापार तनाव को लेकर चिंता से सतर्क रुख अपनाना जारी रखेंगे.' रिलायंस इंडस्ट्रीज 2.85 प्रतिशत की बढ़त के साथ 1,217.25 रुपये की नईं ऊंचाई पर पहुंच गया. सेंसेक्स के शेयरों में ओएनजीसी का प्रदर्शन सबसे बेहतर रहा है.

अधिक बिज़नेस की खबरें