टैग:#RBI
ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं, RBI की ग्रोथ को लेकर चिंता
File Photo


RBI ने ब्याज दरों में कोई भी बदलाव नहीं किया है. रेपो रेट रेट 6.5 फीसदी पर बरकरार है. वहीं, रिवर्स रेपो रेट 6.25 फीसदी है. रुपये में लगातार गिरावट और महंगे क्रूड से महंगाई बढ़ने की चिंता के बावजूद भी आरबीआई ने रेपो रेट में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की है. वहीं दूसरी ओर महंगाई के अनुमान को घटाकर कम कर दिया है. आपको बता दें कि  ज्यादातर अर्थशास्त्री ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी की उम्मीद कर रहे थे. इसकी वजह थी कि रुपये में पिछले कुछ महीनों में लगातार आ रही गिरावट थी.

अब आगे क्या- RBI के ब्याज दरें नहीं बढ़ाने के फैसले के तुरंत बाद रुपया 74 प्रति डॉलर के स्तर पर आ गया. एक्सपर्ट्स का मानना है कि पिछले दिनों रुपये में गिरावट को थामने की आरबीआई की कोशिश कुछ खास सफल नहीं हुई. इस वजह से ना सिर्फ इंपोर्ट महंगा हुआ है, बल्कि चालू खाता घाटा सीएडी और बढ़ने का डर बन गया है.

आपको बता दें कि रुपये में इस साल करीब 15 फीसदी गिरावट आ चुकी है. एक्सपर्ट्स का मानना है कि क्रूड की बढ़ती कीमतों के बीच डॉलर की डिमांड तेज हुई है. वहीं, यूएस ट्रीजरी यील्ड में तेजी ने भी डॉलर को ग्लोबल करंसी के मुकाबले 1 महीने के हाई पर पहुंचा दिया है.

ग्रोथ को लेकर चिंताएं- आरबीआई ने ग्रोथ को लेकर चिंता जताई है. रिजर्व बैंक ने अपने रुख में बदलाव किया है. आरबीआई ने वित्त वर्ष 2019 में जीडीपी ग्रोथ लक्ष्य 7.4 फीसदी पर बरकरार रखा है. आरबीआई के मुताबिक जुलाई-सितंबर में महंगाई दर 4 फीसदी और अक्टूबर-मार्च में 3.9-4.5 फीसदी रहने का अनुमान है. अप्रैल-जून 2019 में महंगाई दर 4.8 फीसदी रहने का अनुमान है. वित्त वर्ष 2019 में वित्तीय घाटा 3.3 फीसदी रहने का अनुमान है

RBI की पॉलिसी पर जवाब देते हुए एचडीएफसी लिमिटेड के सीईओ केकी मिस्त्री ने कहा की आरबीआई का फैसला काफी संतुलित है. अगली पॉलसी में RBI ब्याज दरों में 0.25 फीसदी बढ़ा सकता है.

अधिक बिज़नेस की खबरें