इनकम टैक्स अधिकारी के घर पर CBI का छापा, 3.5 करोड़ रुपये कैश और 5 किलो सोना मिले
सीबीआई प्रवक्ता आरके गौड़ ने बताया कि एजेंसी ने कोलकाता और रांची में कुल 23 स्थानों पर छापेमारी की.


नई दिल्ली : सीबीआई ने बुधवार को झारखंड के प्रधान आयकर आयुक्त तपस कुमार दत्ता के कोलकाता स्थित आवास पर छापेमारी में 3.5 करोड़ रुपये नकद और 5 किलो सोना जब्त किया है. सीबीआई प्रवक्ता आरके गौड़ ने बताया कि एजेंसी ने कोलकाता और रांची में कुल 23 स्थानों पर छापेमारी की. इनमें दत्ता और अन्य का आवास भी शामिल है.

उन्होंने कहा कि दत्ता और अन्य के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों में एफआईआर दर्ज करने के बाद कोलकाता में 18 स्थानों पर और रांची में पांच स्थानों पर छापेमारी की गई. गौड़ ने बताया कि छापेमारी के दौरान एजेंसी ने दत्ता के आवास से 3.5 करोड़ रुपये जब्त किए. इसके अलावा 5 किलो सोना (मौजूदा बाजार मूल्य के हिसाब से 1.4 करोड़ रुपये) भी जब्त किया गया. कई आपत्तिजनक दस्तावेज भी एजेंसी ने जब्त किए हैं.

आरोप है कि दत्ता ने 2016-17 में आयकर विभाग के तीन अन्य अधिकारियों तथा कोलकाता के कारोबारी और एंट्री ऑपरेटर के साथ आपराधिक साजिश की. इस बारे में दत्ता को भेजे गए टेक्स्ट संदेश का जवाब नहीं मिला. गौड़ ने बताया कि साजिश के तहत दत्ता ने कथित रूप से इस कारोबारी से एक चार्टर्ड अकाउंटेंट के जरिये भारी रिश्वत ली. यह रिश्वत कई लोगों की आयकर फाइलें कोलकाता से रांची के हजारीबाग को स्थानांतरित करने के लिए ली गई. उन्होंने कहा कि कथित रूप से कुछ करदाताओं जिन पर भारी कर देनदारी बनती थी, उन सबको अनुचित लाभ पहुंचाने के लिए रिश्वत ली गई.

प्रवक्ता ने कहा कि दत्ता ने अपने आधिकारिक स्थिति का दुरुपयोग किया. सीबीआई ने हाल में दत्ता, आयकर अतिरिक्त आयुक्त अरविंद कुमार, आयकर अधिकारी (तकनीकी) रंजीत कुमार लाल, एक अन्य आयकर अधिकारी और चार्टर्ड अकाउंटेंट पवन मौर्या के खिलाफ मामला दर्ज किया है. कोलकाता के कारोबारी और आंचल व्यापार प्राइवेट के निदेशक विश्वनाथ अग्रवाल, निजी व्यक्तियों- संतोष चौधरी, संतोष शाह, आकाश अग्रवाल और अरविंद अग्रवाल के खिलाफ भी आपराधिक साजिश और भ्रष्टाचार रोधक कानून के तहत एफआईआर दर्ज की गई है.

अधिक बिज़नेस की खबरें