घर में होनी चाहिए इतनी खिड़कियां, इन बातों का रखें ध्यान...
Demo Pic


घर में खिड़कियां होना बहुत आवश्यक है। खिड़कियों से घर की सुंदरता भी बढ़ती है। हवा और सूर्य का प्रकाश भी खिड़कियों के माध्यम से ही कमरों में आता है। 

लेकिन क्या आप जानते है कि खिड़कियों से ही घर में नेगेटिव एनर्जी बाहर निकलती है और पॉजिटिव एनर्जी प्रवेश करती है। 

जी हां, वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में खिड़कियां बनवाते समय कुछ वास्तु नियमों का ध्यान रखना चाहिए, जो इस प्रकार हैं।

पॉजिटिव एनर्जी...
1. खिड़कियां खोलते और बंद करते समय आवाज नहीं आनी चाहिए। इसका प्रभाव घर की सुख-शांति पर पड़ता है। इससे कारण परिवार के सदस्यों का ध्यान भंग होता है।

2. घर में खिड़कियों की संख्या सम होनी चाहिए, जैसे- 2, 4 या 6 तक होनी चाहिए।

3. खिडक़ी की साइज दीवार के अनुपात में ही होनी चाहिए, न ज्यादा बड़ी न छोटी |

4. कमरे की एक दीवार पर एक से ज्यादा खिडक़ी नहीं बनवानी चाहिए।

5. संभव हो तो घर की पूर्व दिशा की ओर खिडक़ी जरूर बनवानी चाहिए। जिससे रोज सुबह सूरज की किरणें सीधे कमरे में आ सके।

6. अगर पूर्व दिशा में खिडक़ी बनवाना संभव न हो तो रोशनदान भी बनवा सकते हैं।

7. समय-समय पर खिड़कियों की मरम्मत और रंग-रोगन जरूर करवाएं।

अधिक धर्म कर्म की खबरें