सलमान खान को कोर्ट का बड़ा झटका, अब हर बार विदेश जाने के लिए लेनी होगी परमिशन
Salman Khan


जयपुर, बॉलीवुड ऐक्टर सलमान खान की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. कोर्ट ने एक बार फिर सलमान खान को तगड़ा झटका दिया है. जोधपुर डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन कोर्ट ने सलमान खान की उस अर्जी को खारिज कर दिया है, जिसमें उन्होंने विदेश जाने की स्थायी अनुमति मांगी थी. कोर्ट के इस आदेश के बाद अब सलमान खान को हर बार विदेश जाने से पहले कोर्ट से परमिशन लेनी पड़ेगी.

शुक्रवार को काले हिरण शिकार केस में बहस के दौरान सलमान के वकील ने कोर्ट में एक एप्लीकेशन (प्रार्थना पत्र) पेश किया था. इसमें सीजेएम ग्रामीण द्वारा सलमान खान पर बिना अनुमति विदेशी यात्रा करने पर लगाई गई रोक को हटाकर उन्हें विदेश यात्रा की स्थायी अनुमति देने की मांग की गई थी.

शुक्रवार को इस मामले में सनुवाई अधूरी रह गई थी. आज हुई सुनवाई के बाद कोर्ट ने सलमान की अर्जी को खारिज कर दिया. इसके बाद यह साफ हो गया कि सलमान को अब हर बार विदेश जाने से पहले अनुमति लेनी पड़ेगी.

वहीं, काले हिरण शिकार केस में सलमान के वकील ने दूसरी अर्जी दायर की है. इसमें 10 से 26 अगस्त तक सलमान के आबूधाबी व माल्टा जाने की अनुमति मांगी है. इस अर्जी पर सुनवाई होनी अभी बाकी है.

क्या है पूरा मामला?

19 साल पहले सितंबर 1998 में सलमान खान जोधपुर में सूरज बड़जात्या की फिल्म 'हम साथ साथ हैं' की शूटिंग कर रहे थे. इसी दौरान वो फिल्म में सहयोगी कलाकारों सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, तब्बू और नीलम के साथ शिकार के लिए गए. आरोप है कि उन्होंने वहां संरक्षित काले हिरण का शिकार किया. शिकार की तारीख 27 सितंबर, 28 सितंबर, 01 अक्टूबर और 02 अक्टूबर बताई गई. साथी कलाकारों पर सलमान को शिकार के लिए उकसाने का आरोप लगा. अब उन्हें कांकणी हिरण शिकार में दोषी करार दिया गया है. सलमान के अलावा बाकी सभी आरोपियों को कोर्ट ने बरी कर दिया है.

कितने केस दर्ज हुए थे

शिकार मामले में सलमान पर चार केस दर्ज हुए.
पहला और दूसरा - मथानिया और भवाद में दो चिंकारा के शिकार के लिए दो अलग-अलग मामले
तीसरा मामला- कांकाणी में काले हिरण का शिकार पर, जिसमें जोधपुर अदालत ने सलमान को दोषी करार दिया है.
चौथा मामला- लाइसेंस खत्म होने के बाद भी .32 और .22 बोर की रायफल रखने का. चौथा मामला आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज किया गया.


कितने मामलों में सजा, कितनों में बाकी?

1. कांकाणी गांव केस: इस मामले में अदालत ने  सलमान को दोषी करार दिया है.
2. घोड़ा फार्म हाउस केस: 10 अप्रैल 2006 को सीजेएम कोर्ट ने पांच साल की सजा सुनाई थी. सलमान हाईकोर्ट गए. 25 जुलाई 2016 को उन्हें बरी कर दिया गया. राज्य सरकार ने इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की.
3. भवाद गांव केस: सीजेएम कोर्ट ने 17 फरवरी 2006 को सलमान को दोषी करार दिया और एक साल की सजा सुनाई. हाईकोर्ट ने इस मामले में भी सलमान को बरी कर दिया है. राज्य सरकार ने फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की है.
4. आर्म्स केस: 18 जनवरी 2017 को कोर्ट ने सलमान को बरी कर दिया था. राज्य सरकार ने इस फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील की है.


अधिक मनोरंजन की खबरें