सोशल मीडिया पर मिलने वाली गालियों की परवाह नहीं करती : ऋचा चड्ढा
रुपहले पर्दे पर बोल्ड किरदार निभाने के लिए प्रसिद्ध अभिनेत्री ऋचा चड्ढा असल जिंदगी में भी उतनी ही बोल्ड ख्यालों वाली हैं.


पणजी : रुपहले पर्दे पर बोल्ड किरदार निभाने के लिए प्रसिद्ध अभिनेत्री ऋचा चड्ढा असल जिंदगी में भी उतनी ही बोल्ड ख्यालों वाली हैं. ऋचा का कहना है कि वह सोशल मीडिया पर मिलने वाली गालियों और ट्रोल की परवाह नहीं करती हैं. अभिनेत्री गोवा के पणजी में आयोजित इंडिया बीच फैशन वीक 2017 के चौथे संस्करण में डिजाइनर संगीता शर्मा के लिए रैंप वॉक करतीं नजर आईं. ऋचा से जब पूछा गया कि क्या वह अपनी बात को खुलकर रखने से डरती नहीं हैं कि इनसे आपकी छवि खराब हो सकती है, तो उन्होंने कहा, "अगर मैं ऐसा करूंगी तो क्या हो जाएगा? लोग मुझे गाली देने लगेंगे या फिर मुझे ट्विटर पर अलग-अलग नामों से बुलाएंगे. मैं इसकी अधिक परवाह नहीं करती हूं."

उन्होंने कहा, "देखिए, अर्थव्यवस्था की हालत खराब है. बहुत सारे लोगों के पास नौकरी नहीं है. इसलिए कई लोगों को दूसरों को ट्रोल करने के लिए भर्ती किया जाता है. ऐसे लोग इंटरनेट पर लोगों पर टिप्पणियां कर अपना काम चलाते हैं. अगर बेरोजगारी के कारण आपको यह काम सौंपा गया है तो इसके लिए आपको शुभकामनाएं लेकिन, यह नौकरी अधिक समय तक नहीं चलने वाली है." ऋचा ने कहा कि सोशल मीडिया पर लोगों को गालियां बकने के लिए एक पूरी 'ट्रोल मशीनरी' सक्रिय है.

उन्होंने कहा, "यह साबित हो गया है कि लोगों को गालियां देने के लिए एक पूरी ट्रोल मशीनरी काम करती है. इसलिए मैं वाकई इस चीज की परवाह नहीं करती हूं. मुझे लगता है कि लोगों द्वारा दूसरों के साथ गाली-गलौच या दुर्व्यवहार करना हवा में पत्थर मारने जैसा है." ऋचा ने 2008 में 'ओए लक्की लक्की ओए' के साथ हिंदी फिल्म उद्योग में प्रवेश किया था. ऋचा ने 'गैंग्स ऑफ वासेपुर', 'फुकरे', 'गोलियों की रासलीला रामलीला' और 'सरबजीत' जैसी कई फिल्मों में अलग-अलग किरदार निभाए हैं.

ऋचा से जब पूछा गया कि क्या उन्हें लगता है कि उन्होंने एक अभिनेत्री के रूप में अपनी पहचान स्थापित कर ली है तो उन्होंने कहा, "हां, मैं यह बात महसूस करती हूं. मैं आपको बताना चाहती हूं कि यह मेरे लिए बड़ी प्रशंसा है. मेरे कई साथी कलाकारों से अलग मैं जब सड़क पर जाती हूं तो लोग मुझे केवल पांच मिनट में ही पहचान लेते हैं. यह इसलिए नहीं है कि मैं बहुत प्रसिद्ध नहीं हूं. यह केवल मेरी छवि की वजह से है, जिसके अनुसार मैं अपने शारीरिक हाव-भाव को बदलती हूं. जिस तरह से मैंने अपने सभी किरदारों को भावनात्मकता के साथ निभाया है, वह बहुत अलग है. इसलिए मेरे लिए यह बड़ी प्रशंसा है." 30 वर्षीय अभिनेत्री का कहना है कि वह अपने करियर के अच्छे दौर में है.

अधिक मनोरंजन की खबरें