दान किए गए कॉर्निया को 11 दिनों तक रखा जा सकता है संरक्षित
दृष्टि क्षमता को वापस पाने के लिए कॉर्निया का प्रतिरोपण एकमात्र इलाज है.


वाशिंगटन: एक अनुसंधान में पाया गया है कि दान की गई कॉर्निया को 11 दिनों तक संरक्षित कर रखा जा सकता है और इससे नेत्र विकार से पीड़ित लोगों की दृष्टि क्षमता को वापस लाने के लिए की जाने वाली प्रतिरोपण सर्जरी पर कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता. वर्तमान में दान की गई उन कॉर्निया को आमतौर पर सर्जरी के लिए प्रयोग नहीं किया जाता जिन्हें संरक्षित किए सात दिन से ज्यादा का वक्त हो गया हो.

अमेरिका की केस वेस्टर्न रिजर्व यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने बताया कि उम्र बढ़ने के साथ कॉर्निया के एंडोथीलियल सेल्स का खत्म होना सामान्य बात है. फ्यूक्स बीमारी कोशिकाओं के समाप्त होने की गति को बढ़ा देती है. दृष्टि क्षमता को वापस पाने के लिए कॉर्निया का प्रतिरोपण एकमात्र इलाज है.

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें