जिगित्जा हेल्थकेयर लिमिटेड ने दुर्भावनापूर्ण मीडिया रिपोर्ट का खण्डन किया
जेडएचएल ने एक उचित एवं पारदर्शी ऑनलाइन टेंडर के माध्यम से जिसमें सख्त समीक्षा प्रक्रियो के बाद दो कंपनियों को चुना गया था.


रॉंची : भारत के अग्रणी आपातकालीन चिकित्सीय सेवा प्रदाताओं मे से एक जिगित्जा हेल्थ केयर लिमिटेड(जेडएचएल) ने घोषणा की कि वह शीघ्र ही झारखण्ड में अपनी सेवाएं आरंभ करेगी। अपने व्यवसाय से संबंधित गलत तथा आधारहीन रिपोर्टो को कंपनी ने दृढतापूर्वक खारिज किया है तथा उसका मानना है कि यह दुर्भावनापूर्ण हमले राजनीति से प्रेरित हैं। गलत तथा अपुष्ट मीडिया रिपोर्ट के विरूद्ध जेडएफएल के पास भारत और विदेश में व्यवसाय करने के प्रत्येक कानूनी अधिकार हैं। कंपनी को भारत या विदेश के किसी भी राज्य की काली सूची में नही डाला गया है। कंपनी उडीसा, मध्य प्रदेश , पंजाब राज्यो की सरकारों की भागीदारी में सफलतापूर्वक इएमएस का संचालन कर रही है तथा इसने इन क्षेत्रों में लाखों जीवन बचाने मंे महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। 

जेडएचएल ने एक उचित एवं पारदर्शी ऑनलाइन टेंडर के माध्यम से जिसमें सख्त समीक्षा प्रक्रियो के बाद दो कंपनियों को चुना गया था ,एल 1 बिडर होने के कारण झारखण्ड इएमएस के लिए बोली हासिल करने में सफलता पायी थी। निविदा को एनएचएम तथा झारखण्ड राज्य सरकार द्वारा अधिसूचित संाविधिक दिशानिर्देशों तथा विनियमों के अनुसार जारी किया गया था। 

जिगित्जा ने उन हालिया रिपोर्टों की भर्त्सना की है जिसे कई मीडिया आउटलेटस ने बिन किसी परिप्र्रेक्ष्य में खबरों की सुर्खियां हासिल करने के सुस्पष्ट इरादे से प्रकाशित किया है। जिगित्जा को दो अग्रणी प्रतिष्ठित कंपनियांे से विदेशी निवेश हांसिल हुआ था । जैसा कि समाचार एजेंसी ने रिपोर्ट दी है एक अंशधारक ने मारिशस में निगमित कंपनी के माध्यम से अपना निवेश किया था जो कि उस समय भारत में किए गए अधिकांश विदेशी निवेश मंे होता था। जेएचएल ने भारत तथा विदेश में उनके सभी संबंधिक न्यायक्षेत्र की सभी विनियात्मक प्राधिकरणों के सारे अनुमोदनों/ अनुपालनों तथा प्रकटीकरण  का पालन किया था। कंपनी ने जैसा कि लागू होता था अपने सभी संबंधित लेनदेन की भारतीय रिजर्व बैंक और अन्य विनियात्मक प्राधिकरणों को सूचना भी दी थी। मीडिया ने अपनी सुविधानुसार मूल समचार रिपोर्ट को अनेदखा किया जिसमें यह स्पष्ट रूप से वर्णित था कि कंपनी ने किसी भी तरह का अवैधानिक या गैर कानूनी निवेश नहीं किया है। 

विकासशील जगत में पूरी तरह सुसज्जित प्रगत तथा बुनियादी जीवन रक्षक एम्बुलेंस के अग्रणी नेटवर्क प्रदान कर मानव जीवन को बचाने के दृष्टिकोण के साथ जेडएफएल की स्थापना हुई थी। इस समय जेडएफएल मुंबई, बिहार, बिहार, केरल, पंजाब तथा ओडिशा , जम्मु-काश्मीर , मध्य प्रदेश तथा तमिलनाडु में 2100 से अधिक एम्बुलेंस का प्रचालन कर रही है। जेएचएल के बोर्ड पर एक्युमेन फण्ड, जीएमआर/ एएमआर(अमेरिका की सबसे बडी एम्बुलंेस कंपनी) , एचडीएफसी, आईडीएफसीख् तथा इंडिया वेल्यू फंड जेसे प्रतिष्ठित निवेशक हैं । जेएचएल के स्टैªटजिक पार्टनर्स में लंदन एम्बुलेंस सर्विसेज,लाइफ सपोर्टर्स इंस्टिटयूट आफ हेल्थ साइंसेज तथा न्यूयार्क प्रिस्बीटेरियन इमरजेंसी मेडिकल सर्विस ( एनवायपी - ईएमएस ) शामिल हैं। 

वर्तमान में भारत में लोगो की सेवा के लिए जेडएचएल में 9000 से अधिक लोग अथक रूप से रात-दिन काम कर रहे है। इस समय देश के 18 राज्यों में जेडएचएल की 3000 से अधिक एम्बुलेंस संचालित हो  रही है तथा आज तक यह 6 मिलियन से अधिक लोगों करी सेवा कर चुकी है। 


अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें