टाइफाइड को न करें नजरअंदाज, लक्षण पहचानकर तुरंत करें इलाज
टाइफाइड को न करें नजरअंदाज, लक्षण पहचानकर तुरंत करें इलाज


टाइफाइड का बुखार शरीर में इंफैक्शन फैलने के कारण होता है। यह बुखार साल्मोनेला बैक्टीरिया के संपर्क में आने से ही होता है, जिसके कारण बॉडी का तापमान 102 डिग्री सेल्‍िसयस से ऊपर चला जाता है। साल्मोनेला टायफी बैक्‍टीरिया गंदे पानी और संक्रमित भोजन से फैलता है। इस बुखार में रोगी को खास देखभाल और सही डाइट की जरूरत होती है। आज हम आपको टाइफाइड के लक्षण और कुछ घरेलू इलाज बताएंगे, जिससे आप इससे जल्दी छुटकारा पा सकते हैं।

टाइफाइड बुखार के लक्षण
1. टाइफाइड होने पर व्यक्ति को 102 डिग्री सेल्‍िसयस से ऊपर बुखार रहता है और उनके शरीर में बहुत कमजोरी आ जाती है।
2. पेट में दर्द, सिर दर्द के अलावा भूख कम लगना भी इसके आम लक्षण है। इसके अलावा टाइफाइड में सुस्ती, उल्टी और कमजोरी भी आती है।
3. टाइफाइड बुखार में बड़ों को कब्ज और छोटे बच्चों को दस्त हो सकते हैं। 
4. इस बुखार में लीवर में इंफेक्शन होने के कारण शरीर के हर अंग में संक्रमण हो सकता है, जिससे कई अन्य संक्रमित बीमारियां होने का खतरा भी बढ़ जाता है।
5. इस बुखार में भूख बढ़ना या कम होना , पेट दर्द और बहुत अधिक सिरदर्द भी हो सकता है।
 

टाइफाइड बुखार और प्याज का रस
टाइफाइड बुखार में आप मरीज को दवाइयों के साथ-साथ कुछ घरेलू चीजें भी दे सकते हैं। इससे बुखार जल्द से जल्द दूर हो जाता है। इस बुखार में प्याज का रस पीने से बुखार जल्दी ठीक होता है और शरीर से बैक्टीरिया भी खत्म हो जाते हैं। इसलिए टाइफाइड होने पर मरीज को नियमित रूप से दिन में कम से कम 2 बार प्याज का रस पिलाएं। बुखार सही करने के साथ ही प्याज का रस पेट का दर्द और कब्ज भी सही करता है।

अन्य घरेलू नुस्खे
1. इस बुखार में ज्यादा से ज्यादा पानी को उबाल कर पीएं। अधिक पानी पीने से शरीर का जहर पेशाब और पसीने के रूप में शरीर से बाहर निकल जाता है।
2. लहसुन की कली 5-10 ग्राम तक काटकर तिल के तेल में या घी में तलकर सेंधा नमक डालकर खाने से भी टाइफाइड बुखार ठीक हो जाता है।
3. तेज बुखार आने पर माथे पर ठंडे पानी का कपड़ा रखें तो बुखार उतर जाता है और बुखार की गर्मी सिर पर नहीं चढ़ती है।
4. टाइफाइड बुखार को ठीक करने के लिए मरीज को पुदीना और अदरक का काढ़ा पीने के लिए दें। इस बात का ध्यान रखें कि काढ़ा पीने के बाद मरीज हवा में न जाएं।
5. तुलसी और सूरजमुखी के पत्तों का रस पीने से भी टायफायड बुखार जल्दी ठीक हो जाता है। इस रस को सुबह नियमित रूप से पीएं। आपको जल्दी असर दिखने लगेगा।
6. इस बुखार में केला,चीकू,पपीता,सेब, मौसमी और संतरा का सेवन करें। फल खाने की बजाए आप इनका जूस भी पी सकते हैं। केला खाने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है। इसकी तासीर ठंडी होती है,जिससे दवाइयों के कारण आई गर्मी भी दूर हो जाती है।
7. दही का मट्ठा यानि लस्सी टाइफाइड में बहुत फायदेमंद होती है। इस बुखार को दूर करने के लिए आप लस्सी में थोड़ा सा धनिए का रस मिलाकर भी पी सकते हैं।

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें