अब कैंसर जैसी बीमारियों से बचाएगी वियाग्रा...
कांसेप्ट फोटो


पुरुषों में होने वाली इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या में इस्तेमाल होने वाले वियाग्रा नाम की दवाई के बारे में आपने जरूर सुना होगा। लेकिन आपको यह सुनकर हैरानी होगी कि इस दवाई से अब ब्लड कैंसर जैसी बीमारी ठीक हो सकती है।  


दरअसल, वियाग्रा दवाई का बनाने का मकसद इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या को ठीक करना नहीं था। इस दवाई को इस लिए तैयार किया गया था कि यह पल्मोनरी आरट्रियल हाइपरटेंशन के लक्षणों का इलाज कर सके। पल्मोनरी आरट्रियल हाइपरटेंशन एक तरह की हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारी है जो दिल और फेफड़ों के बीच होती है।


पल्मोनरी आरट्रियल हाइपरटेंशन के दौरान फेफड़ों में हाइपरटेंशन की स्थिति बन जाती है। जिस वजह से हृदय को फेफड़ों तक खुन पहुंचाने में ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। ऐसा स्थिति में वियाग्रा दवा फेफड़ों में फोस्पोडायस्टेरियस एंजाइम बनाती है और रक्त धमनियों को चौड़ा कर फेफड़े को आराम पहुंचाने का काम करती है।


कोलोरेक्टल कैंसर से भी बचा सकती है वियाग्रा

चुहों पर वियाग्रा के असर के आधार पर अध्ययन कर रहे वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर चुहों को रोजाना वियाग्रा कि छोटी सी डोज दी जाए तो उनमें कोलोरेक्टल कैंसर होने के खतरे को कई गुना कम किया जा सकता है।

नोट: कोई भी दवा लेने से पहले आप डॉक्टर से सलाह लें...

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं) 

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें