जो कुछ आप मुझसे कहते हैं वो मोदी से कहने की हिम्मत नहीं होगी- राहुल गांधी
File Photo


सिंगापुरबीजेपी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि भारत में आमतौर पर डर का माहौल है. यहां चुनाव जीतने के लिए लोगों को बांटने और उनके गुस्से का इस्तेमाल करने की राजनीति होती है. इस दौरान राहुल गांधी ने यह भी कहा कि लोग जो कुछ उन्हें कहते हैं वह सब पीएम नरेंद्र मोदी से कहने की किसी के पास हिम्मत नहीं है.

सिंगापुर के प्रतिष्ठित ली कुआन यिऊ स्कूल ऑफ पब्लिक पॉलिसी में एक परिचर्चा में भाग ले रहे राहुल ने कहा कि भारत के संस्थागत ढांचे के सामने चुनौती है. उन्होंने कहा, ‘एक अलग तरह की राजनीति होती है जो न केवल भारत में हो रही है बल्कि कई जगहों पर हो रही है. लोगों को बांटने की और चुनाव जीतने के लिए उनके गुस्से का इस्तेमाल करने की और यह भारत में भी हो रहा है.’

राहुल ने कहा, ‘अगर आप मुझसे पूछते हैं कि मुझे अपने देश की किस बात पर गर्व होता है तो यह बहुलवाद का विचार है.’ सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ न्यायाधीशों द्वारा अभूतपूर्व तरीके से संवाददाता सम्मेलन करने पर उठे हालिया विवाद पर राहुल ने कहा, ‘वे दरअसल प्रेस के पास गये और कहा कि सुनिए हम चाहते हैं कि लोग हमारी बात सुनें क्योंकि बुनियादी रूप से कुछ गलत है.’

इसी बीच एक सवाल के जवाब के दौरान उन्होंने कहा कि आप मुझसे किसी भी मुद्दे पर बहस कर सकते हैं. आप मुझसे जो कुछ भी कह सकते हैं उसे नरेंद्र मोदी के सामने कहने की हिम्मत नहीं कर सकते. और इस पर मुझे गर्व है.

उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि आपको न्यायाधीशों की टिप्पणियों के बारे में पता है या नहीं लेकिन मामले के केंद्रबिंदु (बीजेपी अध्यक्ष) में अमित शाह हैं. इसलिए हमारे देश के संस्थागत ढांचे के सामने चुनौती है.’ वह परोक्ष रूप से विशेष सीबीआई न्यायाधीश बी एच लोया की कथित रहस्यमयी तरीके से मृत्यु का जिक्र कर रहे थे जो सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले में सुनवाई कर रहे थे. इस मामले में शाह को आरोपमुक्त कर दिया गया था.

राहुल ने आरोप लगाया, ‘व्यवस्था पर और न्यायपालिका पर बहुत ही आक्रामक और संगठित हमला हो रहा है. अगर आप प्रेस से, उद्योग जगत के लोगों से बात करेंगे तो वे भी आपको बताएंगे कि हम डरा हुआ महसूस करते हैं. इसलिए आमतौर पर डर का माहौल है.’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि महात्मा गांधी ने भारत के बारे में सोचा था कि ऐसा भारत जहां धर्म, समुदाय और राज्य से परे सभी सहज महसूस करें.

उन्होंने श्रोताओं की तरफ से आये एक प्रश्न के उत्तर में आरोप लगाया कि अल्पसंख्यक विरोधी राजनीति में बीजेपीऔर संघ शामिल हैं. राहुल ने कहा, ‘महात्मा गांधी की अल्पसंख्यकों की रक्षा करते करते जान चली गयी. हम कांग्रेस पार्टी पिछले 70 साल से अल्पसंख्यकों की रक्षा कर रहे हैं. हम ऐसे भारत को पसंद नहीं करते जहां लोगों पर अत्याचार हों, जहां लोगों को उनके खाने, उनकी बातों और उनके पहनावे के लिए पीटा जाता हो.’

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कानून बनाने पर नियंत्रण है, उत्तर प्रदेश पुलिस पर उनका नियंत्रण है, हरियाणा पुलिस उनके नियंत्रण वाली है, यह सब उनके नियंत्रण में है. भारत में एक अत्यंत खतरनाक किस्म की सियासत हो रही है.’ राहुल ने कहा, ‘हम चुनाव में उनसे लड़ेंगे और उन्हें हराएंगे.’

अधिक विदेश की खबरें