State Of The Union के संबोधन में बोले ट्रंप- 'दीवार' के लिए पहले भी वोट पड़े थे, अब इसे मैं बनवाऊंगा
file photo


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को स्टेट ऑफ द यूनियन का अपना संबोधन दिया. इस दौरान ट्रंप ने डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन सांसदों को कांग्रेस में अपने मतभेद और प्रतिशोध की राजनीति से परे हटकर साथ काम करने के लिए कहा साथ ही मैक्सिको बॉर्डर पर दीवार बनाने पर फिर जोर दिया. उन्होंने अपने संबोधन में प्रवासियों पर भी बोला.

ट्रंप ने योग्यता के आधार पर प्रवासियों के देश में आने पर जोर देते हुए कहा कि अवैध प्रवासियों को बर्दाश्त करना दया नहीं बल्कि क्रूरता है. ट्रंप ने अपने संबोधन में कहा, ‘यह हमारा नैतिक कर्तव्य है कि हम अपने नागरिकों की जिंदगियों और नौकरियों की रक्षा करने वाला प्रवासी तंत्र बनाए.’ उन्होंने कहा कि साउथ मैक्सिको बॉर्डर पर अराजकता की स्थिति सभी अमेरिकियों की सुरक्षा और वित्तीय स्थिति के लिए खतरा है.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘इसमें आज यहां रह रहे लाखों प्रवासियों के लिए हमारा कर्तव्य शामिल है जो हमारे नियमों का पालन करते हैं और कानूनों का सम्मान करते हैं. वैध प्रवासियों से अनगिनत तरीकों से हमारा राष्ट्र समृद्ध बनता है और हमारा समाज मजबूत होता है.’ ट्रंप ने कहा कि उनके प्रशासन ने साउथ बॉर्डर पर संकट को खत्म करने के लिए एक प्रस्ताव कांग्रेस को भेजा है.

उन्होंने कहा, ‘इसमें मानवीय सहायता, अधिक कानून प्रवर्तन, हमारे बंदरगाहों पर ड्रग्स का पता लगाना, उन खामियों को दूर करना जहां से चाइल्ड ट्रैफिकिंग होती है और एक नए ब्रेकर या दीवार के लिए योजनाएं शामिल हैं.’

उन्होंने कहा, ‘इस कमरे में मौजूद ज्यादातर लोगों ने पहले दीवार के पक्ष में वोट किया था लेकिन दीवार कभी बनी ही नहीं. मैं इसे बनाऊंगा.’ ट्रंप ने कहा कि यह स्मार्ट, स्टील का ब्रेकर होगा ना कि ठोस दीवार.

कांग्रेस से खतरनाक साउथ बॉर्डर की रक्षा करने का आह्वान करते हुए ट्रंप ने कहा कि अमेरिका के कामकाजी वर्ग और राजनीतिक वर्ग के बीच मतभेद जितना अवैध प्रवासी के मुद्दे ने दिखाया है उतना किसी अन्य मुद्दे ने नहीं.

उन्होंने कहा कि दीवारों, गेट और गार्डों से घिरे रहने वाले अमीर नेताओं और दान देे वालों ने खुली सीमा पर जोर दिया है वहीं अमेरिका के कामकाजी वर्ग को अवैध प्रवासियों की कीमत-कम नौकरियां, कम भत्ते, जरूरत से ज्यादा भरे स्कूल और अस्पताल वगैरह अदा करने के लिए छोड़ दिया है.

उन्होंने कहा, ‘अवैध प्रवासियों को बर्दाश्त करना दया नहीं है बल्कि क्रूरता है. सीमा पर आने के लिए लंबी यात्रा के दौरान हर तीन में से एक महिला का यौन उत्पीड़न होता है. तस्कर हमारे कानूनों का शोषण करने और देश में अपने पैर जमाने के लिए प्रवासी बच्चों का प्यादे के रूप में इस्तेमाल करते हैं.’

रिपब्लिकन और डेमोक्रट सांसदों से राष्ट्रीय संकट से निपटने के लिए एकजुट होने की अपील करते हुए ट्रंप ने कहा कि अमेरिकी कांग्रेस के पास सरकार को वित्त पोषण देने, देश की रक्षा करने और दक्षिणी सीमा की सुरक्षा करने के वास्ते एक विधेयक पारित करने के लिए 10 दिन का समय है.

उन्होंने कहा, ‘अब दुनिया को यह दिखाने का समय है कि अमेरिका अवैध प्रवासियों, ड्रग और ह्यूमन स्मगलर्स को रोकने के लिए प्रतिबद्ध है.’

इसके साथ ही अपने संबोधन में विदेशी स्तर पर हो रहे डेवलपमेंट के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि अमेरिका की तालिबान के साथ बातचीत ‘सार्थक’ रही. उन्होंने कहा कि अमेरिका ने अफगानिस्तान में राजनीतिक समझौते के लिए बातचीत तेज कर दी है. वहीं ट्रंप ने ये भी बताया कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन और वो 27-28 फरवरी को वियतनाम में मुलाकात करेंगे. इसके अलावा ट्रंप ने चीन पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि ‘अमेरिकी रोजगार और धन की’ चोरी बंद होनी चाहिए.

अधिक विदेश की खबरें