नॉर्थ कोरिया के मिसाइल से बचने की अमेरिका ने की तैयारी
अमेरिकी सेना ने उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण किए जाने के बाद दक्षिण कोरिया में बैलिस्टिक मिसाइलरोधी रक्षा प्रणाली तैनात करनी शुरू कर दी है.


सियोल : अमेरिकी सेना ने उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण किए जाने के बाद दक्षिण कोरिया में बैलिस्टिक मिसाइलरोधी रक्षा प्रणाली तैनात करनी शुरू कर दी है. अमेरिकी पैसेफिक कमांड ने यह जानकारी दी.

परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया ने चार मिसाइलें प्रक्षेपित की थीं और उसने कहा था कि ये प्रक्षेपण जापान में अमेरिकी सैन्य अड्डों पर हमले के प्रशिक्षण का हिस्सा थे. इनमें से तीन मिसाइलें जापान के बहुत करीब तक आ गई थीं.

अमेरिकी पैसेफिक कमांड ने एक बयान में सोमवार को कहा, ‘टर्मिनल हाई एल्टीट्यूड एरिया डिफेंस प्रणाली की तैनाती कई परतों वाली मिसाइल रक्षा प्रणाली में योगदान देगी और इससे उत्तर कोरियाई मिसाइल खतरों से अमेरिका-आरओके गठबंधन की रक्षा व्यवस्था मजबूत होगी.’
पैसेफिक कमांड ने कहा, ‘उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार परीक्षणों और बैलिस्टिक मिसाइल प्रक्षेपणों का बढ़ता कार्यक्रम अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा को खतरा है और यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के कई प्रस्तावों का उल्लंघन हैं.’

दक्षिण कोरिया और अमेरिका ने पिछले साल थाड प्रणाली तैनात करने पर सहमति जताई थी, जिसे चीन ने अपनी सुरक्षा को खतरा बताते हुए उसकी निंदा की थी.
एशिया प्रशांत में अमेरिकी सैन्य अभियानों पर नजर रखने वाले प्रशांत कमान ने इशारा किया कि यह प्रणाली पूरी तरह से एक रक्षात्मक क्षमता है और इससे क्षेत्र में किसी अन्य देश को कोई खतरा नहीं है.’

इस प्रणाली का मकसद कम एवं मध्यम दूरी की मारक क्षमता वाली बैलिस्टिक मिसाइलों की उड़ान के अंतिम चरण में उन्हें रास्ते में रोकना और नष्ट करना है.

अधिक विदेश की खबरें