अफगानिस्तान में अमेरिका द्वारा किये गये हमले में 36 IS आतंकियों की मौत
अफगानिस्तान में आईएस की सुरंगों और टनल को निशाना बनाकर यह सबसे बड़ा गैर-परमाणु बम गिराया गया था।


जलालाबाद : अफगानिस्तान में IS के ठिकानों पर अमेरिका द्वारा किए गए हमले में 36 आतंकियों की मौत हो गई। इस हमले में किसी नागरिक के हताहत होने की बात से इनकार करते हुए अफगानी अधिकारियों ने कहा कि अमेरिका के गिराए GBU-43/B (मैसिव ऑर्डनंस एयर ब्लास्ट) बम ने आतंकियों के छुपने में काम आने वाली सुरंगों को तबाह कर दिया। पूर्वी अफगानिस्तान में हुए इस हमले पर विदेश मंत्रालय ने कहा, 'धमाके से दाइश (IS) के आतंकियों के छिपने के ठिकाने और सुरंगें तबाह हो गए और 36 IS आतंकियों की मौत हो गई।'



बता दें कि गुरुवार को अमेरिका ने अफगानिस्तान के नंगरहार प्रांत में ISIS को निशाना बनाते हुए GBU-43/B मैसिव ऑर्डनंस एयर ब्लास्ट (MOAB) नाम का बम गिराया था। इस बम को 'मदर ऑफ ऑल बॉम्स' यानी 'सभी बमों की मां' भी कहा जाता है। अफगानिस्तान में आईएस की सुरंगों और टनल को निशाना बनाकर यह 'सबसे बड़ा गैर-परमाणु बम' गिराया गया था। इस कार्रवाई के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कहा कि यह सफल अभियान रहा और हमें सेना पर गर्व है।

ट्रंप ने कहा कि उन्होंने अमेरिकी सेना को पूरी आजादी दी जिसका नतीजा ऐसे सफल अभियानों के रूप में सामने आ रहा है। ट्रंप ने पिछले हफ्तों सीरिया पर हवाई हमले के आदेश और इस अभियान का हवाला देकर ओबामा के शासन पर भी निशाना साधा। ट्रंप ने कहा कि पिछले 8 हफ्तों में जो कुछ हुआ अगर उसकी तुलना पिछले 8 सालों से की जाए तो आपको जबरदस्त अंतर दिखाई पड़ेगा। सीरिया में केमिकल अटैक का मामला सामने आने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ने हमले का आदेश दिया था।

अधिक विदेश की खबरें

WTO : अमेरिका को भारत की खरी खरी, हर हाल में निकालना होगा खाद्य सुरक्षा पर स्थायी समाधान..

विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) की अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में चल रही मंत्री स्तरीय वार्ता टूटने ......