जापानी पुरुषों को सेक्स से दूर कर रहा है पॉर्न
आजकल के पुरुष महिलाओं से डेट पर चलने के लिए पूछकर अपनी चिंता बढ़ाने की बजाए पॉर्न देखना ज्यादा आसान समझते हैं।


एक नई रिसर्च में खुलासा हुआ कि जापान के आधे से ज्यादा पुरुष बिना किसी सेक्शुअल एक्सपीरियंस के अपने जीवन के 30 साल गुजार देते हैं और यही वजह ही जापान की जनसंख्या में तेजी से कमी आ रही है क्योंकि ज्यादा से ज्यादा युवा किसी भी तरह के रोमांटिक रिलेशनशिप से बचने की कोशिश कर रहे हैं।

इस बारे में जब जापान के पुरुषों की राय मांगी गई तो 18 से 34 साल के 43 प्रतिशत पुरुष ने बताया कि वे वर्जिन थे। इनमें से कुछ पुरुषों का कहना था कि महिलाएं डरावनी होती हैं। इस पूरे मुद्दे पर जब एक जापानी महिला से पूछा गया कि उन्हें क्या लगता है क्यों उनकी ही उम्र के 64 प्रतिशत पुरुष किसी तरह के रिलेशनशिप में नहीं रहना चाहते? इस पर उस महिला ने कहा, आजकल के पुरुष महिलाओं से डेट पर चलने के लिए पूछकर अपनी चिंता बढ़ाने की बजाए पॉर्न देखना ज्यादा आसान समझते हैं। तो वहीं एक दूसरी महिला ने कहा कि वह सिंगल रहकर ज्यादा खुश है क्योंकि बॉयफ्रेंड होने का मतलब है अपनी आजादी पर रोक लगाना। 

जापान के नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ पॉप्युलेशन ऐंड सोशल सिक्यॉरिटी रिसर्च ने भविष्यवाणी की है कि जापान की मौजूदा जनसंख्या जो 12 करोड़ 70 लाख है वह 2065 तक 4 करोड़ तक घट जाएगी। देश में फर्टिलिटी के संकट की वजह से अब जापान के पॉलिटिशन्स भी इस समस्या का हल ढूंढने में लग गए हैं।

जापान के 26 साल के कमीडियन अनो मातसुई कहते हैं, 'मेरे अंदर आत्मविश्वास नहीं है। मैं लड़कियों के बीच कभी भी फेमस नहीं रहा। एक बार मैंने एक लड़की से डेट पर चलने के लिए पूछा लेकिन उसने मना कर दिया। इससे मुझे बहुत चोट पहुंची। मेरी तरह और भी कई पुरुष हैं जो इन सब वजहों से महिलाओं को डरावना समझते हैं। हम रिजेक्ट होने से डरते हैं। इसलिए हम अपनी हॉबी के पीछे अपना समय बिताते हैं। मैं अपने से नफरत करता हूं लेकिन मैं इसके लिए कुछ नहीं कर सकता।' 45 साल की आर्टिस्ट मेगुमी इगारशी कहती हैं, 'रिलेशनशिप बनाना आसान नहीं है। एक लड़के को लड़की से डेट पर चलने के लिए पूछने से ही इसकी शुरुआत करनी होगी।' 

जापान की हर तरह घटती जनसंख्या डेमोग्राफिक टाइम बम की तरह है जिसकी वजह से नौकरियां, हाउसिंग मार्केट और लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट प्लान प्रभावित हो रहा है। कई दूसरे देश जैसे अमेरिका, चीन, डेनमार्क और सिंगापुर में भी फर्टिलिटी रेट्स कम है लेकिन जापान की स्थिति इन सबमें सबसे बुरी है। एक सर्वे में खुलासा हुआ है कि जापान के 50 साल की उम्र के एक चौथाई पुरुषों की अभी तक शादी नहीं हुई है। तो वहीं 50 साल की उम्र की जापानी महिलाओं की बात करें तो हर 7 में से 1 महिला की अब तक शादी नहीं हुई है।

अधिक विदेश की खबरें