टैग:Pause#onthe#speculation#of#Ajay going#tothe#second#party
अजय के दूसरी पार्टी में जाने की अटकलों पर लगी विराम
शहर के दक्षिण क्षेत्र के कद्दावर नेता




शहर के दक्षिण क्षेत्र के कद्दावर नेता व कांग्रेस से लगातार तीन बार विधायक रहे अजय कपूर के बारे में काफी दिनों से दूसरी पार्टी में जाने की चल रही अटकलों पर उस समय विराम लग गया, जब कांग्रेस ने उन्हें शुक्रवार को बिहार का प्रभारी बना दिया। इसके साथ ही शहर कांग्रेस में गुटबाजी भी खत्म हो जाने की संभावना है।

पूर्व विधायक अजय कपूर की दावेदारी के बाद पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल को उम्मीदवार बनाए जाने के बाद से ही अजय नाराज चल रहे थे। इससे कानपुर में कांग्रेस दो धड़ों में बंटी हुई है। बीच में अजय के गठबंधन का उम्मीदवार बनाने की भी चर्चा थी लेकिन सपा ने पूर्व विधायक रामकुमार निषाद को उम्मीदवार बना दिया। इसके बाद अजय ने भाजपा से संपर्क साधना शुरू कर दिया। ऐसी चर्चा थी कि भाजपा अध्यक्ष के आगमन पर अजय भाजपा की सदस्यता लेंगे। इसकी भनक कांग्रेस हाईकमान को भी थी। इसको देखते हुए शुक्रवार को पार्टी हाईकमान ने अजय कपूर को राष्ट्रीय सचिव बनाते हुए बिहार का प्रभारी बना दिया और बिहार में रहकर पार्टी के लिए काम करने का निर्देश दे दिया। जिलाध्यक्ष हर प्रकाश अग्निहोत्री ने बताया कि अजय कपूर को पार्टी हाईकमान ने राष्ट्रीय सचिव बनाकर बिहार का प्रभारी बनाया है और अजय कपूर अपने अनुभवों के जरिये बिहार में पार्टी को मजबूत करने का काम करेंगे।

अधिक लोकसभा चुनाव 2019 की खबरें