लुधियाना में इमारत हादसे में मरनेवालों की संख्या 12 पहुंची
कुछ लोग अभी भी अंदर फंसे हुए हैं।


लुधियाना : पंजाब के लुधियाना में एक प्लास्टिक कारखाने की इमारत ढह जाने के कारण 12 लोगों की मौत हो गई और 25 के करीब अभी फंसे हुए हैं। घटनास्थल पर बचाव कार्य जारी है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि राहत कार्य जारी है। उन्होंने बताया कि मलबे के अंदर कुछ और लोग भी फंसे हुए हैं। 

सूफिया चौक के पास एक औद्योगिक क्षेत्र के संकरे इलाके में स्थित पांच मंजिला इमारत भीषण आग लगने के बाद एक शक्तिशाली विस्फोट के साथ सोमवार दोपहर ढह गई थी। वरिष्ठ जिला अधिकारी प्रदीप अग्रवाल ने कहा कि ध्वस्त इमारत में दमकल कर्मियों और नगर निगम कर्मचारियों समेत 20-25 लोगों के फंसे होने की आशंका है। अधिकारी ने यह भी बताया कि इमारत के मलबे से 12 शव बरामद हुए हैं और बचाव अभियान रात भर (सोमवार रात) जारी रहा। तीन शव सोमवार शाम को बरामद हुए, जबकि बाकी शव रात के समय बरामद हुए। 

अधिकारी ने मीडिया को बताया, 'बचाव अभियान आज भी जारी रहेगा। कुछ लोग अभी भी अंदर फंसे हुए हैं।' राष्ट्रीय आपदा राहत दल (एनडीआरएफ), सेना, पंजाब पुलिस, अग्निशमन विभाग और एक स्थानीय गैर सरकारी संगठन की टीमें फंसे लोगों को बचाने में लगी हैं। मलबे से निकाले गए दो लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस आयुक्त आरएन ढोक ने कहा कि इमारत के अंदर फंसे अधिकारी सोमवार सुबह आग लगने के बाद इसके निरीक्षण के लिए गए थे। 

उन्होंने कहा कि अमरसन पॉलीमर्स में केमिकल और संग्रहित की गई प्लास्टिक की चीजों में आग लगी थी। आग को बुझाने के लिए सोमवार को कम से कम 15 दमकल कर्मी फौरन घटनास्थल रवाना हुए थे, जिस पर काबू करने में करीब छह घंटे लग गए थे। 


अधिक देश की खबरें