ध्यान आकर्षित करने के लिए रंगीन ब्रा पहनती हैं छात्राएं: टीचर
हमारी पीटी यूनिफॉर्म सफेद होने की वजह से कई लड़कियों की ब्रा नजर आती थी।


कोलकाता : कोलकाता के एक प्रतिष्ठित स्कूल में 4 साल की मासूम बच्ची के साथ कथित तौर पर यौन उत्पीड़न + का मामला सामने आने के बाद अब पूर्व छात्राओं ने भी आवाज उठाना शुरू कर दिया है। कनाडा में पढ़ाई कर रहीं स्कूल की एक पूर्व स्टूडेंट रुपकथा बासु ने स्कूल से जुड़ी घटनाओं को याद करते हुए बताया कि वाइस प्रिंसिपल ने कुछ लड़कियों पर ध्यान आकर्षित करने के लिए रंगीन ब्रा पहनने का आरोप लगाया था। 



टॉरंटो की न्यू यॉर्क यूनिवर्सिटी में सायकॉलजी की पढ़ाई कर रहीं बासु ने फेसबुक पर लिखी पोस्ट में लिखा, 'स्कूल के मैनेजमेंट में शामिल लोग बहुत पॉवरफुल हैं। वे हमेशा से स्टूडेंट्स की आवाज को डरा-धमकाकर तथा ब्लैकमेल कर खामोश करा देते हैं। अच्छी बात है कि मैं अब यूनिवर्सिटी की स्टूडेंट हूं और मुझे बोर्ड परीक्षा से बाहर होने या फिर ऐडमिट कार्ड नहीं मिलने का डर नहीं है।' 



उन्होंने कहा, 'स्कूल का व्यवहार बुरा था और वहां गुजारे 14 सालों में मैंने कई सारे अच्छे टीचर्स को इसी वजह से स्कूल छोड़कर जाते हुए देखा। मैनेजमेंट ने स्कूल की वाइस प्रिंसिपल की नियुक्ति की, जो लड़कियों के खिलाफ भद्दी टिप्पणी करती थी। हमारी पीटी यूनिफॉर्म सफेद होने की वजह से कई लड़कियों की ब्रा नजर आती थी। वह कहती थीं कि लड़कियां जानबूझकर लड़कों का ध्यान आकर्षित करने के लिए कलर्ड ब्रा पहनती हैं।' 

गौरतलब है कि कोलकाता में रानीकुथी स्थित स्कूल जीडी बिरला सेंटर फॉर एजुकेशन में गुरुवार को शारीरिक शिक्षा के टीचर द्वारा बहला-फुसलाकर मासूम बच्ची को टॉइलट में ले जाकर कथित तौर पर उसके साथ यौन उत्पीड़न करने का मामला सामने आया है। परिजनों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने टीचर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। 


अधिक देश की खबरें