ED ने SC में कहा अगर कार्ति चिदंबरम को आजादी मिलेगी तो नीरव मोदी पर कैसे होगी कार्रवाई
दिल्ली हाईकोर्ट ने एक मामले में सुनवाई करते हुए 20 मार्च तक कार्ति की गिरफ्तारी पर रोक लगाई है.


नई दिल्ली : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिल्ली हाईकोर्ट के उस आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है, जिसमें पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को मनी लॉन्ड्रिंग केस में राहत दी गई थी. दिल्ली हाईकोर्ट ने एक मामले में सुनवाई करते हुए 20 मार्च तक कार्ति की गिरफ्तारी पर रोक लगाई है. 

हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ ईडी की याचिका पर आगामी 15 मार्च को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी. सुप्रीम कोर्ट में दायर अर्जी में ईडी ने कहा है कि अगर कार्ति चिदंबरम को आजादी मिलेगी तो नीरव मोदी जैसे लोगों पर कार्रवाई कैसे होगी.

वहीं, आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में कार्ति की जमानत याचिका मामले से दिल्ली हाईकोर्ट की न्यायाधीश इन्द्रमीत कौर ने खुद को अलग कर लिया है, जिसके बाद यह मामला अन्‍य बेंच को सौंप दिया गया.

लंदन से लौटते ही सीबीआई ने किया था गिरफ्तार
सीबीआई ने एक मार्च को चेन्नई एयरपोर्ट से कार्ति चिदंबरम को गिरफ्तार किया था. कार्ति लंदन से वापस भारत लौट रहे थे. चेन्नई से उन्हें सीधे दिल्ली लाया गया और पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया. अदालत ने उन्हें सीबीआई कस्टडी में भेज दिया.


अधिक देश की खबरें

अमृतसर रेल हादसाः ड्राइवर ने कहा, 'मैंने ब्रेक लगाया लेकिन ट्रेन रुकी नहीं, लोग पत्थर फेंकने लगे तो बढ़ा दी स्पीड'..

अमृतसर में दशहरा उत्सव के दौरान हुए रेल हादसे में 61 लोगों की मौत के बाद जीआरपी ......