पत्रकार रामचन्द्र की हत्या के मामले में गुरमीत राम रहीम दोषी
पत्रकार रामचन्द्र की हत्या के मामले में गुरमीत राम रहीम दोषी


चंडीगढ। हरियाणा के पंचकूला में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने शुक्रवार को सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिया। अदालत ने तीन अन्य को भी मामले में दोषी करार दिया है। ये तीनों डेरा प्रमुख राम रहीम के करीबी सहयोगी रहे हैं। इस मामले में 17 जनवरी को कोर्ट सजा सुनाएगी। पंचकूला में सीबीआई अदालत के न्यायाधीश जगदीप सिह ने इस फैसले की घोषणा की। छत्रपति को अक्टूबर 2002 में गोली मारी गई थी और बाद में उनकी मौत हो गई थी।


गुरमीत सुनारिया जेल में दो साध्वियों से दुष्कर्म के मामले में 20 साल कैद की सजा काट रहा है। इससे पहले जमानत पर चल रहे आरोपित कोर्ट में हाजिर होंगे। फैसले के मद्देनजर पुख्ता सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। पुलिस की चार बटालियन तैनात कर दी गई हैं। इस मामले में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के अलावा कृष्ण लाल, कुलदीप और निर्मल सिंह पर हत्या का आरोप है।

इस बीच सुनवाई से पहले पंचकूला में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट का सुरक्षा घेरा बढ़ा दिया गया है। कोर्ट परिसर और आसपास का इलाका छावनी में तब्दील हो गया है। 

पंचकूला में सीबीआई स्पेशल कोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था के बारे में जानकारी देते हुए डीसीपी कमलदीप गोयल ने कहा, ‘भारी संख्या में पुलिसबल को तैनात कर दिया गया है। कोर्ट परिसर में 500 की संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है। यहां बैरिकेडिंग भी कर दी गई है।’


अधिक देश की खबरें