PM मोदी को गिफ्ट में मिलीं 1800 वस्तुओं की नीलामी
5 हजार की भगवान शिव की एक मूर्ति 10 लाख रुपये में बिकी


नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उपहार में मिलीं 1800 वस्तुओं की नीलामी करीब पखवाड़े भर की कवायद के बाद पूरी हो गई। नीलामी में कई वस्तुएं तो अपनी बेस प्राइस से 200 गुना ज्यादा तक में खरीदी गईं। पिछले महीने शुरू हुई नीलामी की इस प्रक्रिया के पूरे होने को लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय ने जानकारी दी। हालांकि, यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि नीलामी से कितनी राशि प्राप्त हुई। इस धनराशि का इस्तेमाल केन्द्र सरकार की परियोजना नमामि गंगे के तहत गंगा नदी की सफाई के लिए किया जाएगा। 

पीएमओ ने बताया कि नीलामी में अधिक मूल्य पाने वाली अन्य वस्तुओं में भगवान शिव की एक मूर्ति भी रही। इस मूर्ति का आधार मूल्य पांच हजार रुपये रखा गया था और इसकी नीलामी 10 लाख रुपये में हुई है जो कि इसकी वास्तविक कीमत से 200 गुना अधिक है। बयान में बताया गया है कि अशोक स्तंभ की लकड़ी की एक प्रतिकृति का आधार मूल्य 4 हजार रुपये रखा गया था, जिसकी नीलामी 13 लाख रुपये में हुई। जबकि असम के माजुली से मिली एक पारंपरिक होराई (असम राज्य का एक पारंपरिक प्रतीक- एक स्टैंड के साथ ट्रे) की नीलामी 12 लाख रुपये में हुई। इसका आधार मूल्य 2 हजार रुपये था। वहीं, चार हजार रुपये आधार मूल्य वाली गौतम बुद्ध की एक प्रतिमा की नीलामी 7 लाख रुपये में हुई है। 

नैशनल गैलरी ऑफ मॉर्डन आर्ट (एनजीएमए) में आयोजित नीलामी के दौरान विशेष रूप से दस्तकारी की हुई लकड़ी की एक बाइक 5 लाख रुपये में बिकी। इसी तरह एक अनोखी पेंटिंग की भी नीलामी हुई जिसमें एक प्लेटफॉर्म पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को दर्शाया गया है। इस तस्वीर के जरिए पीएम मोदी का रेलवे से जुड़ाव दिखाया गया है। 

बयान में कहा गया है, 'गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए भी प्रधानमंत्री मोदी ने उपहार में मिली वस्तुओं की नीलामी की थी ताकि धनराशि का बालिकाओं की शिक्षा के लिए उपयोग किया जा सके। इस प्रक्रिया को जारी रखते हुये उन्होंने जो अब धन का संग्रह किया है उसका इस्तेमाल पवित्र नदी गंगा की सफाई में मदद करने के लिए किया जाएगा।'


अधिक देश की खबरें

उज्जैन को पवित्र नगरी बनाए जाने की मांग पूरी न होने तक, देश के हर कोने में होगा अनशन- ऊर्जा गुरु अरिहंत ऋषि ..

मध्यप्रदेश समेत देश के अन्य राज्यों से भी उज्जैन को लेकर सकारात्मक प्रतिक्रिया मिलने लगी है। ...