अयोध्या मामला: सुप्रीम कोर्ट ने डीजीपी और मुख्य सचिव को किया तलब
डीजीपी ओपी सिंह, फाइल फोटो


अयोध्या में फैसले का काउंटडाउन शुरू हो गया है लेकिन उससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को यूपी पुलिस विभाग के मुखिया डीजीपी ओ पी सिंह और मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी को तलब किया है और दोनों अफसरों को आज दोपहर 12 बजे कोर्ट में मौजूद रहने के निर्देश जारी किया है। 


कोर्ट ने डीजीपी और मुख्य सचिव को किया तलब

मिली जानकारी के मुताबक फैसले से पहले मुख्य न्यायाधीश दोनों अधिकारियों से प्रदेश की मौजूदा स्थिति की जानकारी लेंगे। आज दोनों अधिकारी राजकीय विमान से दिल्ली पहुंचेंगे।

17 नवंबर से पहले आएगा फैसला

जैसे जैसे फैसले की घड़ी पास आ रही है अयोध्या में हाई अलर्ट जारी कर दिया है। वहीं हिन्दू मुस्लिम नेताओं मे आपसी सौहार्द बनाने की अपील भी है। फिलहाल उम्मीद है कि 17 नवंबर से पहले कभी भी सर्वोच्च न्यायालय अयोध्या विवाद पर अपना अंतिम फैसला सुना सकता है।


डीजीपी ने माहौल की दी जानकारी

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर उत्तर प्रदेश और खास तौर पर अयोध्या में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि पुलिस करीब 1,659 लोगों के सोशल मीडिया अकाउंट्स पर नजर रख रही है और जरूरत पड़ी तो इंटरनेट सेवाएं सस्पेंड भी की जा सकती हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के जिलाधिकारी धर्मगुरुओं के साथ बैठक कर रहे हैं। बीते कुछ दिनों में करीब 6000 शांतिवार्ताएं हुई हैं और अधिकारी 5800 धर्मगुरुओं से मिले हैं।

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)

अधिक देश की खबरें