#Gujrat हॉस्टल में मिला सेनेटरी पैड, प्रिंसिपल ने 68 छात्राओं के कपड़े उतरवाकर की जांच
इस इंस्टीच्यूट के छात्रावास में रहने वाली लड़कियों के लिए कुछ अलग नियम बनाए गए हैं.


गुजरात के कच्छ जिले के भुज में एक बेहद शर्मनाक मामला सामने आया है जहां श्री सहजानंद कॉलेज के प्रिंसिपल ने 68 लड़कियों की अंडरवियर उतरवाकर इस बात की जांच कराई कि वे मासिक धर्म से गुजर रही हैं या नहीं. इस मामले के सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है.


मामला सामने आने के बाद जांच के लिए कच्छ यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पांच सदस्यों की एक कमेटी बनाई है. इस कमेटी में शामिल वाइस-चांसलर और तीन अन्य महिला प्रोफेसरों ने बीते गुरुवार को कॉलेज का दौरा भी किया है. कमेटी के सदस्यों का कहना है कि जांच खत्म होने के बाद रिपोर्ट के आधार पर इस मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी.


श्री सहजानंद कॉलेज को स्वामीनारायण मंदिर के भक्त लोग मिलकर चलाते हैं. इस इंस्टीच्यूट के छात्रावास में रहने वाली लड़कियों के लिए कुछ अलग नियम बनाए गए हैं. यहां के नियमों के मुताबिक जिस छात्रा को पीरियड आता है वो हॉस्टल के कमरे में नहीं बल्कि बेसमेंट में रहेगी. उन्हें रसोईघर में घुसने और पूजा करने की इजाजत नहीं है. पीरियड खत्म हो जाने तक उन्हें अकेले में रहना पड़ता है. इतना ही नहीं पीरियड आने वाली लड़कियों को क्लास में अंतिम बेंच पर भी बैठना पड़ता है.


इस मामले में पीड़ित छात्राओं का कहना है कि बीते सोमवार को छात्रावास के बाहर स्थित उद्यान में एक सेनेटरी पैड मिला था. छात्रावास प्रबंधन को यह शक हो गया कि कॉलेज की ही किसी छात्रा ने यहां पैड फेंका है. यह काम किसने किया? यहीं जानने के लिए छात्राओं के साथ यह अमानवीय व्यवहार किया गया.

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)  


अधिक देश की खबरें